waris pathan new statement

मीडिया से बात करते हुए वारिस पठान ने कहा, 'पिछले कुछ दिनों से मुझे हिंदू धर्म विरोधी बताया जा रहा है। मैं किसी भी हिंदू भाइयों के खिलाफ नहीं हूं। मैंने उस दिन जो कुछ भी कहा वो नागरकिता कानून के खिलाफ गुस्से में कहा।'

वारिस पठान ने बिना नाम लिए कहा कि ‘100 करोड़ (हिंदुओं) पर 15 करोड़ (हिंदू) भारी पड़ेंगे।’ उन्‍होंने कहा कि अगर आजादी दी नहीं जाती तो छीनना पड़ेगा। वारिस पठान के इस बयान के बाद राजनीति गरम हो गई है।

घृणा पैदा करने वाले इस बयान पर मुस्लिम मौलवियों का कहना है कि हिंदू मुसलमान के साथ खड़ा है और मुसलमान हिंदू के साथ खड़ा है। इस तरह की विचारधाराओं से देश को नुकसान होगा।