World Health Organisation (WHO)

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने वैक्सीन पर राष्ट्रवाद के खिलाफ चेतावनी दी है। उन्होंने अमीर देशों को आगाह करते हुए कहा कि यदि वे खुद के लोगों के उपचार में लगे रहते हैं और अगर गरीब देश बीमारी की जद में हैं तो वे सुरक्षित रहने की उम्मीद नहीं कर सकते हैं।

भारत में कोरोना के कुल मामलों की संख्या 11 लाख 92 हजार 915 हो गई है। देश में पिछले 24 घंटे में 37,724 नए मामले सामने आए हैं और 648 लोगों की मौत हुई है। इसके अलावा देश में अभी तक इस महामारी की वजह से 28,781 लोगों की मौत हुई है।

ट्रंप ने मंगलवार देर रात कहा, 'वे डब्‍ल्‍यूएचओ वास्‍तव में चीन की कठपुतली हैं। हम चीन को इस महामारी को छिपाने और दुनिया में फैलाने के लिए जिम्‍मेदार मानते हैं और हमने कोई गलती नहीं की है। वे इसे रोक सकते थे और उन्‍हें इसे रोकना चाहिए था।'

विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी इसकी तारीफ की है। डब्ल्यूएचओ ने धारावी का उदाहरण देते हुए कहा है कि राष्ट्रीय और वैश्विक एकजुटता के साथ आक्रामक कार्रवाई से महामारी को रोका जा सकता है।

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप का विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) से देश को आधिकारिक तौर पर बाहर निकालना 'संवेदनहीनता का काम' है। यह बात हाउस स्पीकर नैंसी पेलोसी ने कही है।

पदभार संभालने के बाद स्वास्थ्य मंत्री डॉ. हर्षवर्धन ने कहा कि मुझे पता है कि वैश्विक संकट के समय में मैं इस कार्यालय में प्रवेश कर रहा हूं। अगले 2 दशकों में कई स्वास्थ्य चुनौतियां होंगी। इन चुनौतियों से हम सब मिलकर लड़ेंगे। उन्होंने कहा कि भारत मौजूदा वक्त में कोरोना से दृढ़ संकल्प के साथ लड़ रहा है।