xi jinping

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि नए कोरोना वायरस निमोनिया की रोकथाम में सक्रिय परिवर्तन हुआ है और कोरोना वायरस निमोनिया के असर को कम करने में सभी लोग जुट जाएं।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से फोन पर बातचीत की। राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने कहा कि चीन सरकार और जनता पूरी शक्ति से नए कोरोना वायरस संक्रमण के खिलाफ संघर्ष कर रही है।

चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग ने राजधानी पेइचिंग में कंबोडिया के प्रधानमंत्री होंगसन से मुलाकात की। इस अवसर पर शी जिनपिंग ने कहा कि चीन को विश्वास है कि चीन नए कोरोना वायरस निमोनिया के मुकाबले में विजय पा सकेगा, इसके साथ ही इस युद्ध में विजय पाने में चीन सक्षम भी है।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी के महासचिव शी जिनपिंग ने पार्टी के संगठनों और सदस्यों से न्यू कोरोनावायरस निमोनिया की महामारी को रोकने में अहम भूमिका अदा करने की अपील की।

चीनी कम्युनिस्ट पार्टी की केंद्रीय कमेटी के महासचिव, राष्ट्रपति व केंद्रीय सैन्य आयोग के अध्यक्ष शी जिनपिंग ने सोमवार को सीपीसी केंद्रीय कमेटी की अनुशासन निगरानी कमिशन के चौथे पूर्णाधिवेशन में पार्टी और राष्ट्र की निगरानी व्यवस्था में सुधार कर सत्ता के संचालन के नियंत्रण और इसकी निगरानी पर जोर दिया।

पीएम मोदी 11वें BRICS सम्मेलन में हिस्सा लेने के लिए ब्राजील के शहर ब्रासिलिया पहुंच गए हैं। इस दौरान पीएम मोदी यहां कई राष्ट्राध्यक्षों से मुलाकात करेंगे। पीएम मोदी आज रात साढ़े दस बजे रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन से मुलाकात करेंगे।

आरसीईपी शिखर सम्मेलन में अपने भाषण में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, 'इस समझौते का मौजूदा स्वरूप RCEP की बुनियादी भावना और मान्य मार्गदर्शक सिद्धांतों को पूरी तरह जाहिर नहीं करता है। यह मौजूदा परिस्थिति में भारत के दीर्घकालिक मुद्दों और चिंताओं का संतोषजनक रूप से समाधान भी पेश नहीं करता।'

पीएम मोदी और शी जिनपिंग के मुलाकात की देखें ये तस्वीरें

इसको लेकर एक वीडियो पीएम मोदी के ट्वीटर अकाउंट से शेयर भी किया गया है। जिसमें पीएम मोदी बीच की सफाई करते हुए देखे जा सकते हैं। बता दें कि इस वीडियो में पीएम मोदी तमिलनाडु के ममल्लापुरम बीच पर प्लॉगिंग करते हुए दिखे।

चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग की शुक्रवार से शुरू हुई भारत यात्रा के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ होने वाली उनकी अनौपचारिक शिखर बैठक से दोनों देशों के बीच संबंधों को अगले स्तर पर ले जाने की दिशा तय होगी और इससे अनिश्चितता भरे विश्व को स्थिरता और सकारात्मक ऊर्जा मिलेगी।