Yes Bank crisis

प्रवर्तन निदेशालय येस बैंक के संस्‍थापक राणा कपूर और उनके परिवार के खिलाफ पीएमएलए मामले में अपनी पहली चार्जशीट मुंबई की एक विशेष अदालत में फाइल करेगा।

62 वर्षीय कपूर ने आगे दावा किया कि उनकी चिकित्सा स्थिति के मद्देनजर उन्हें फेफड़ों की गंभीर बीमारी हो सकती है, जिससे उनकी मृत्यु हो सकती है। इसलिए उन्होंने निवेदन किया कि उन्हें घर का बना हुआ उचित भोजन दिया जाए जिसके लिए उन्हें घर पर रहना आवश्यक है।

अनुराग ठाकुर ने कहा, '50 डिफॉल्टर्स की लिस्ट वेबसाइट पर है। 25 लाख से ज्यादा वाले डिफॉल्टरों के नाम वेबसाइट पर डाले जाते हैं।'

संसद में आज मध्यप्रदेश की कमलनाथ सरकार पर आए संकट के मुद्दे पर हंगामा हो सकता है। ध्यान रहे कांग्रेस के 20 से ज्यादा विधायकों ने पार्टी से इस्तीफा दिया है, उसको लेकर कांग्रेस ने भाजपा पर सत्ता के लिए जोड़तोड़ का आरोप लगाया है।

केन्द्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने यस बैंक के संस्थापक राणा कपूर और डीएचएफएल के प्रमोटर कपिल वधावन के खिलाफ दर्ज भ्रष्टाचार के मामले में सात ठिकानों की तलाशी ली। सीबीआई ने किन ठिकानों की तलाशी ली, उनके बारे में सटीक जानकारी अब तक नहीं मिली है, लेकिन एजेंसी सूत्रों पुष्टि की है कि ये सभी ठिकाने एफआईआर में दर्ज अभियुक्तों से संबंधित हैं।

ईडी के अधिकारियों ने कहा कि कपूर से रात भर पूछताछ की गई। जांच से जुड़े ईडी के एक वरिष्ठ अधिकारी ने आईएएनएस को बताया, "दीवान हाउसिंग फाइनेंस लिमिटेड (डीएचएफएल) को यस बैंक द्वारा दिए गए ऋणों के बारे में कपूर से पूछताछ की जा रही है।"

उन्होंने कहा कि एसबीआई बोर्ड ने यस बैंक में 49 फीसदी तक की हिस्सेदारी लेने की सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। उन्होंने कहा कि योजना पर कानूनी टीम काम कर रही है। गौर हो, शुक्रवार को आरबीआई ने निकासी सीमा 50 हजार कर दी है। हालांकि इस निकासी सीमा को केवल 5 अप्रैल तक ही रखा गया है।

राहुल गांधी इससे पहले भी अर्थव्यवस्था के मसले पर मोदी सरकार पर निशाना साधते रहे हैं और अब यस बैंक के संकट के साथ ही ये हमला और भी तीखा हो गया है।