विपक्ष के विरोध के बीच राज्‍यसभा में नहीं पेश हुआ तीन तलाक बिल

  •  
  • 1
  •  
  •  
  •  
    1
    Share

नई दिल्‍ली। तीन तलाक बिल राज्‍यसभा में विपक्ष के हंगामे के कारण पेश नहीं हो सका। राज्‍यसभा के सभापति वेंकैया नायडू ने कहा कि तीन तलाक बिल को सदन में आज नहीं लिया जा सकेगा, क्योंकि इस पर आम सहमति नहीं बन पाई है। अब शीतकालीन सत्र में मोदी सरकार इसे पेश कर सकती है।parliament

हालांकि यह भी उम्‍मीद जताई जा रही है कि शीलकालीन सत्र से पहले मोदी सरकार इसके लिए अध्‍यादेश ला सकती है। विपक्ष ने बिल के संशोधनों पर सलाह ना करने का आरोप लगाया है। गुरुवार को विपक्ष की मांगों को स्वीकार करते हुए कैबिनेट ने तीन तलाक विधेयक में संशोधनों को हरी झंडी दे दी थी। तीन तलाक बिल पर यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी ने कहा कि हमारी पार्टी की स्थिति बिल को लेकर एकदम साफ है। मैं इस बारे में और कुछ अभी नहीं कहना चाहूंगी।

इससे पहलं विपक्ष की मांगों को स्वीकार करते हुए कैबिनेट ने तीन तलाक विधेयक में संशोधनों को हरी झंडी दे दी है। इन संशोधनों के अनुसार तीन तलाक के आरोपी पतियों को न सिर्फ जमानत मिल सकेगी, बल्कि मजिस्ट्रेट के सामने समझौते का विकल्प भी खुला रहेगा।triple talaq muslim

कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने संशोधनों के बाद कांग्रेस नेता सोनिया गांधी से राज्यसभा में इस विधेयक को पास कराने में मदद की उम्मीद जताई।गौरतलब है कि तीन तलाक विधेयक लोकसभा में पहले ही पास हो चुका है। लेकिन राज्यसभा में संख्या बल के कारण विपक्ष इसका विरोध कर रहा था। विपक्ष और खासकर कांग्रेस इसमें संशोधनों की मांग कर रहे थे।

एनडीए की कमजोर स्थिति के कारण विपक्षी सदस्यों को मनाने के लिए विधेयक में संशोधन की जरूरत थी, जिसे कैबिनेट ने मंजूरी दे दी। संशोधनों में विपक्ष की आपत्तियों को समाहित करने का प्रयास किया गया है।इन संशोधनों के अनुसार अब तीन तलाक के आरोपी पति को जमानत मिल सकती है।

Facebook Comments