‘सीएम त्रिवेंद्र सिंह रावत ने राष्ट्रपति को श्रीमती रामनाथ कोविंद कहा’ जानिए सच क्या है?

सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि सीएम ने राष्ट्रपति को श्रीमती रामनाथ कोविंद कहकर संबोधित किया।

Written by: October 7, 2019 12:44 pm

वो खबर जो वायरल हुई
सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है। वीडियो उत्तराखंड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत का है। जिसमें दावा किया जा रहा है कि सीएम ने राष्ट्रपति को श्रीमती रामनाथ कोविंद कहकर संबोधित किया। सोशल मीडिया में वायरल किए जा रहे इस वीडियो में कैप्शन दिया गया है कि – ‘देश की प्रथम महिला श्रीमती रामनाथ कोविंदजी.. कहकर संबोधित किया उत्तराखण्ड के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने देश के राष्ट्रपति को’

असर क्या हुआ?

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत के इस स्टेटमेंट को सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर वायरल किया गया। इस वीडियो में उनके बयान का पूरा हिस्सा ना दिखाते हुए सिर्फ छोटा हिस्सा दिखाकर फेसबुक, ट्वीटर पर शेयर किया जा रहा है। ये जाने बगैर कि सच क्या है आधे, अधूरे वीडियो को शेयर किया जा रहा है।

फैक्ट क्या है?
ये वीडियो 4 अक्टूबर का है। महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आईआईटी रुड़की के दीक्षांत समारोह में बतौर मुख्य अतिथि अपनी पत्नी के साथ पहुंचे थे। इस कार्यक्रम में राज्यपाल बेबी रानी मौर्य, मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत और केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री डॉ रमेश पोखरियाल निशंक बतौर अतिथि शामिल हुए।

 

कार्यक्रम के दौरान जब मंच पर मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत पहुंचे तो उन्होंने अपने संबोधन में राष्ट्रपति के आगमन पर राष्ट्रपति के साथ-साथ सभी सम्मानित अतिथियों का स्वागत किया।  इस दौरान उन्होंने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद की पत्नी सविता कोविंद को सम्मान देते हुए कहा – देश की प्रथम महिला श्रीमती रामनाथ कोविंद। इस कथन को गलत तरीके से प्रचारित करने की कोशिश की गई। वास्तविकता यही है कि देश की प्रथम महिला राष्ट्रपति की पत्नी होती है। इसलिए सीएम ने उन्हें देश की प्रथम महिला श्रीमती रामनाथ कोविंद कहकर पुकारा। इसमें कुछ भी गलत नहीं है।

बयान को इस तरह से दिखाने की कोशिश की गई कि देश के राष्ट्रपति को सीएम ने प्रथम महिला श्रीमती रामनाथ कोविंद कहकर पुकारा जो सच नहीं है। आईआईटी रुड़की का यह कार्यक्रम यूट्यूब पर लाइव प्रसारित हुआ था। नीचे दिए गए लिंक पर 56:16- 57:35 के बीच वास्तविक वीडियो को देखेंगे तो स्पष्ट हो जाएगा कि  किस तरह से सीएम की छवि खराब करने के लिए वीडियो को गलत ढंग से प्रचारित किया गया।

सोशल मीडिया पर अब लोगों ने सीएम के पूरे बयान को भी शेयर करना शुरू कर दिया है ताकि लोगों को समझ आ सके कि सच क्या है।


सच/अफवाह

सीएम त्रिवेंद्र सिंह के बयान को गलत ढंग से पेश किया गया। जो दावा किया गया वह सच नहीं है।