World Cup: कोई भी टीम मैच जीते, जश्न के लिए नहीं मिलेगी ICC ट्रॉफी

आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में कौन बाजी मारेगा, ये तो अभी नहीं कहा जा सकता। चूंकि फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को होगा जिसके बाद मालूम चलेगा की कौन सी टीम वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीतने में कामयाब रही है। पर जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं मिलती है।

Written by Newsroom Staff June 16, 2019 3:54 pm

नई दिल्ली। आईसीसी क्रिकेट विश्व कप 2019 में कौन बाजी मारेगा, ये तो अभी नहीं कहा जा सकता। चूंकि फाइनल मुकाबला 14 जुलाई को होगा जिसके बाद मालूम चलेगा की कौन सी टीम वर्ल्ड कप ट्रॉफी जीतने में कामयाब रही है। पर जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं मिलती है।


इतिहास की बात करें तो 1975 में पहला विश्व कप इंग्लैंड में खेला गया था, जिसमें वेस्टइंडीज टीम विजेता बनी थी। टीम ने फाइनल मैच में ऑस्ट्रेलिया को वर्ल्ड की ट्रॉफी जीती थी।

इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल ने 1999 विश्व कप में पहली बार विजेता टीम को अपनी ट्रॉफी दी, जिसके बाद से इस नियम का पालन किया जा रहा है। आपको बता दें, वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं दी जाती है।

 

यहां रखी जाती है असली ट्रॉफी
वर्ल्ड कप जीतने वाली टीम को असली ट्रॉफी नहीं दी जाती है। दरअसल उस ट्रॉफी की हूबहू कॉपी टीम को दी जाती है। वर्ल्ड कप की ओरिजनल ट्रॉफी इंटरनेशनल क्रिकेट काउंसिल (आईसीसी) अपने पास संभालकर रखती है।

कैसी होती है ट्रॉफी
बता दें कि वर्तमान वर्ल्ड कप की ट्रॉफी में सोने और चांदी का काम किया जाता है। जिसका वजन करीब 11 किलो का होता है वही ऊंचाई 60 सेंटीमीटर की होती है। चांदी और सोने से तैयार हुई ये ट्रॉफी एक सुनहरा ग्लोब की तरह दिखाई देती है।

जिसका आकार क्रिकेट की गेंद जैसा होता है, और उसके चांदी के स्तंभ बनाए गए हैं, जो क्रिकेट की बुनियादी पहलुओं ‘बैटिंग’, ‘फील्डिंग’, ‘बॉलिंग’ को दर्शाता है। इसकी साथ ट्रॉफी के नीचे विजेता टीम का नाम लिखा जाता है।

आपको बता दें, साल 2011 में विजेता बनी भारतीय टीम को बाद में असली ट्रॉफी का प्रतिरूप ही दिया गया था। असली ट्रॉफी को आईसीसी के मुख्यालय शरजाह में रखा जाता है।