अमेरिका : ट्रंप ने राष्ट्रपति चुनाव अभियान की औपचारिक शुरुआत की

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्लोरिडा ऑर्लेडो में एक जनसभा से 2020 राष्ट्रपति चुनाव में अपने पुनर्निर्वाचन के लिए प्रचार अभियान की औपचारिक शुरुआत कर दी है।

Written by Newsroom Staff June 19, 2019 4:51 pm

वॉशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने फ्लोरिडा ऑर्लेडो में एक जनसभा से 2020 राष्ट्रपति चुनाव में अपने पुनर्निर्वाचन के लिए प्रचार अभियान की औपचारिक शुरुआत कर दी है। उन्होंने अपने समर्थकों से अपने प्रतिद्वंद्वी डेमोक्रेटिक पार्टी के खिलाफ वोटों की आंधी लाने का आवाह्न किया है। ट्रंप ने मंगलवार रात एम्वे सेंटर एरीना में उपस्थित लगभग 20,000 लोगों से कहा, “ये भ्रष्ट नेता सिर्फ एक ही बात समझेंगे और वह है जब मतदान पेटी में भूकंप आएगा..और वे इसे देखेंगे कि ऐसा होगा।”
donald_trump

ट्रंप ने कहा, “हम यह एक बार कर चुके हैं और अब दोबारा करने जा रहे हैं.. और इस बार हम काम खत्म करने वाले हैं।” ट्रंप ने कहा, “और इसलिए आज रात, मैं अमेरिका के राष्ट्रपति के अपने दूसरे कार्यकाल के लिए अपने अभियान की शुरुआत करने के लिए आपके सामने खड़ा हूं।”

समाचार एजेंसी एफे के अनुसार, ट्रंप ने हालांकि, चुनाव प्रचार के अभियान की आधिकारिक घोषणा मंगलवार को की, लेकिन उन्होंने पद संभालने के दिन से ही दोबारा चुनाव लड़ने की तैयारी शुरू कर दी थी। इसी सिलसिले में उन्होंने पिछले 2.5 सालों में देशभर में दर्जनों रैलियां की हैं।

ट्रंप ने 2016 के नारे ‘मेक अमेरिका ग्रेट अगेन (अमेरिका को दोबारा महान बनाएं)’ को आगे बढ़ाते हुए इस बार चुनाव प्रचार के लिए अपने अभियान के आधिकारिक नारे ‘कीप अमेरिका ग्रेट (अमेरिका को महान बनाए रखें)’ की घोषणा की।
Donald Trump

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, अपने भाषण में ट्रंप ने देश की अर्थव्यवस्था, सरकार की आव्रजन नीतियों और व्यापारिक ²ष्टिकोण के साथ-साथ संघीय अदालतों के पुनर्गठन के अपने प्रयासों सहित कई मुद्दों पर प्रकाश डाला।

अपने भाषण में उन्होंने कई अन्य चीजों के साथ-साथ राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों, कुछ प्रमुख मीडिया संस्थानों और मार्च में पूरी हुई रूसी जांच की आलोचना की।
Donald Trump

ट्रंप साल 2016 में अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति निर्वाचित हुए थे। उन्होंने डेमोक्रेटिक उम्मीदवार हिलेरी क्लिंटन को हराया था।उन्होंने 20 जनवरी 2017 को कार्यभार संभाला था और उसी दिन अपने पुनर्निर्वाचन के लिए संघीय चुनाव आयुक्त के समक्ष दस्तावेज दाखिल किए थे।