आखिर सही रास्ते पर आया चीन, अरुणाचल और जम्मू-कश्मीर को लेकर मानी यह बात

आमतौर पर अरुणाचल प्रदेश को अपना हिस्सा मानने वाले चीन ने अपने एक नक्शे में पूरे जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाया है। बीजिंग में बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) के दूसरे समिट में चीन नक्शा प्रदर्शित कर रहा था। इसी में चीन ने पूरे जम्मू और कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाया है।

Written by: April 26, 2019 4:24 pm

नई दिल्ली। आमतौर पर अरुणाचल प्रदेश को अपना हिस्सा मानने वाले चीन ने अपने एक नक्शे में पूरे जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाया है। बीजिंग में बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव (बीआरआई) के दूसरे समिट में चीन नक्शा प्रदर्शित कर रहा था। इसी में चीन ने पूरे जम्मू और कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाया है।

गुरुवार को यहां दुनिया भर के नेता जमा हुए। हालांकि भारत इस बार भी फोरम का बहिष्कार कर रहा है। अमेरिका ने भी इस बार फोरम का बहिष्कार करने का फैसला किया है। इन सबके बीच चीन का एक आश्चर्यचकित करने वाला रूख सामने आया है। इस फोरम के दौरान चीन ने बीआरआई रूट का एक नक्शा जारी किया जिसमें पूरे जम्मू-कश्मीर और अरुणाचल प्रदेश को भारत का हिस्सा दिखाया है।

BRI Summit China Road Map

इससे पहले चीन ने बीआरआई को लेकर जम्मू-कश्मीर का जो नक्शा जारी किया था उसमें पीओके (पाक अधिकृत कश्मीर) को पाकिस्तान का हिस्सा बताया था। चीन के इस कदम से विशेषज्ञ भी हैरान हैं और पता लगाने की कोशिश कर रहे हैं कि कहीं ये चीन की कोई नई चाल तो नहीं है, क्योंकि वह किसी भी तरह से अपनी इस महत्वाकांक्षी परियोजना बीआरआई में भारत को शामिल करना चहता है।

बता दें कि भारत ने इस समिट का बहिष्कार किया है। इससे पहले 2017 में बीआरआई के पहले समिट में भी भारत शामिल नहीं हुआ था। इस समिट में 37 देश शामिल हो रहे हैं। बीआरआई का मकसद राजमार्गों, रेल लाइनों, बंदरगाहों और सी-लेन के नेटवर्क के माध्यम से एशिया, अफ्रीका और यूरोप को जोड़ने का लक्ष्य है। तीन दिन तक चलने वाले इस समिट की शुरुआत गुरुवार को हुई। ये नक्शा चीन की कॉमर्स मिनिस्ट्री ने पेश किया।