खाड़ी में हथियारों की बिक्री को लेकर ईरान ने अमेरिका की आलोचना की

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, जरीफ ने सोमवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सऊदी अरब के हथियार पर खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में 50 अरब अमरीकी डॉलर के अमेरिकी हथियार (बेचे गए) थे।

Written by Newsroom Staff August 13, 2019 10:42 am

तेहरान। ईरानी विदेश मंत्री मोहम्मद जवाद जरीफ ने कहा है कि कुछ क्षेत्रीय देशों में अमेरिकी हथियारों की बिक्री ने खाड़ी क्षेत्र को ‘फटने के लिए तैयार टिंडरबॉक्स’ में बदल दिया है। प्रेस टीवी ने यह जानकारी दी। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, जरीफ ने सोमवार को संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और सऊदी अरब के हथियार पर खर्च का जिक्र करते हुए कहा कि पिछले साल इस क्षेत्र में 50 अरब अमरीकी डॉलर के अमेरिकी हथियार (बेचे गए) थे।

President Trump and Mohammad Javad Zarif

प्रेस टीवी ने जरीफ के हवाले से कहा, “अगर आप क्षेत्र से आने वाले खतरों के बारे में बात कर रहे हैं, तो अमेरिका और उसके सहयोगियों की ओर से खतरा आ रहा है, जो इस क्षेत्र में हथियार भेज रहे हैं और इसे फटने के लिए तैयार टिडरबॉक्स बना रहे हैं।”

उन्होंने ‘सैन्य क्षेत्र में सुरक्षा को बढ़ावा देने’ के नाम पर एक समुद्री सैन्य गठबंधन बनाने के लिए अमेरिकी कदम की भी निंदा की। उन्होंने कहा, “क्षेत्र में अधिक युद्धपोतों की उपस्थिति केवल अधिक असुरक्षा का कारण बनेगी।”

Iranian Foreign Minister Mohammad Javad Zarif

अमेरिका और उसके सहयोगियों ने इस क्षेत्र में ईरान के बढ़ते प्रभाव के बारे में चिंता व्यक्त की है। हाल ही में अमेरिका ने खाड़ी में अपने सहयोगी देशों के क्षेत्रों में अधिक सैनिकों, युद्धपोतों और हमलावरों को तैनात किया है और एक समुद्री सैन्य गठबंधन के गठन का आह्वान किया है।