न्यूजीलैंड ने जलवायु परिवर्तन से मुकाबले के लिए ‘महत्वाकांक्षी एजेंडा’ शुरू किया

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में जलवायु सम्मेलन में अर्डर्न ने कहा कि हालांकि न्यूजीलैंड का कुल वैश्विक उत्सर्जन में हिस्सा महज 0.17 प्रतिशत है, लेकिन 1990 के बाद से इसका सकल उत्सर्जन 23 प्रतिशत से थोड़ा अधिक हो गया है और इसका विशुद्ध उत्सर्जन 65 प्रतिशत है।

Written by: September 24, 2019 11:18 am

संयुक्त राष्ट्र। न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री जेसिंडा अर्डर्न ने कहा कि देश ने जलवायु परिवर्तन से मुकाबला करने के लिए एक ‘महत्वाकांक्षी एजेंडा’ शुरू कर दिया है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार को न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में जलवायु सम्मेलन में अर्डर्न ने कहा कि हालांकि न्यूजीलैंड का कुल वैश्विक उत्सर्जन में हिस्सा महज 0.17 प्रतिशत है, लेकिन 1990 के बाद से इसका सकल उत्सर्जन 23 प्रतिशत से थोड़ा अधिक हो गया है और इसका विशुद्ध उत्सर्जन 65 प्रतिशत है।

Jacinda Ardern

न्यूजीलैंड की प्रधानमंत्री ने कहा कि उन्होंने एक महत्वाकांक्षी एजेंडा शुरू किया है। उन्होंने कहा, “हमने जीरो कार्बन बिल को संसद में पेश किया है, जिसका उद्देश्य न्यूजीलैंड को हमारे प्रशांत पड़ोसियों की भलाई के लिए आवश्यक ग्लोबल वार्मिग के 1.5 डिग्री सेल्सियस की सीमा के भीतर रखना सुनिश्चित करना है।”

Jacinda Ardern

अर्डर्न ने न्यूजीलैंड की प्रतिबद्धता को दिखाने के लिए कुछ उपायों का जिक्र किया। उदाहरण के लिए, 2028 तक इसका एक अरब पेड़ लगाने का लक्ष्य है, जबकि 15 करोड़ पहले से ही हैं। इसने अपतटीय तेल और गैस की खोज के लिए कोई नया परमिट जारी करना बंद कर दिया है, उसके स्थान पर, यह 2035 तक ग्रीन हाइड्रोजन, जैव ईंधन और 100 प्रतिशत नवीकरणीय बिजली उत्पादन के लक्ष्य को ध्यान में रखकर निवेश कर रहा है।