कश्मीर भारत-पाक के बीच का मुद्दा, खुद सुलझाएं: मालदीव

Avatar Written by: March 19, 2018 10:17 am

नई दिल्ली। मालदीव के भारत में उच्चायुक्त अहमद मोहम्मद ने कहा है कि कश्मीर भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दा है तथा इसका समाधान सौहार्दपूर्ण तरीके से होना चाहिए। उन्होंने भारत और मालदीव के बीच द्विपक्षीय गतिविधियां बढ़ाने की वकालत की। उच्चायुक्त के इस बयान को मालदीव के एक वरिष्ठ मंत्री द्वारा कश्मीर पर दिए गए बयान से हुए नुक्सान को कम करने के प्रयास के तौर पर देखा जा रहा है।

उच्चायुक्त ने स्वीकार किया कि भारत और मालदीव के बीच अविश्वास का माहौल है जिसका कारण हाल के वर्षों में कई मुद्दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि दोनों देशों के बीच पनपी कड़वाहट का एक कारण यह भी हो सकता है। मालदीव के एक मंत्री की ओर से कश्मीर पर विवादित बयान दिए जाने के बाद वहां के उच्चायुक्त अहमद मोहम्मद ने सफाई दी है। मालदीव सरकार के एक वरिष्ठ मंत्री मोहम्मद शाइनी ने मंगलवार को कहा था, ‘मालदीव ने कश्मीर मुद्दे पर न तो कभी दखल दिया न ही मध्यस्थता की पेशकश की क्योंकि वह भारत का आंतरिक मामला है। इसी तरह भारत को भी हमारे आंतरिक मामले में दखल नहीं देना चाहिए।’

शाइनी ने यह भी कहा था कि हमारा देश स्वतंत्र है और अपनी परिस्थितियों को दुरुस्त करने में सक्षम भी। अगर हमें मदद की जरूरत पड़ेगी, हम उन्हें बता देंगे। उनके इस बयान को भारत और मालदीव के बीच बढ़ती दूरियों के तौर पर देखा जा रहा है।

अहमद मोहम्मद ने माना कि हाल के कुछ वर्षों में भारत और मालदीव के बीच ‘अविश्वास की भावनाएं’ पनपीं जिससे दोनों देशों के रिश्ते पर असर पड़ा लेकिन दोनों देशों को कंधे से कंधा मिलाकर चलना चाहिए।

Support Newsroompost
Support Newsroompost