मसूद अजहर घोषित हो सकता है ग्लोबल टेररिस्ट, मोदी सरकार की होगी कूटनीतिक जीत

चीन के रवैये में आ रहे बदलाव को लेकर माना जा रहा है कि उसका पाकिस्तान प्रेम अब कम हो रहा है। ऐसे में अगर मसूद का नाम ब्लैक लिस्ट में जाता है तो इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक जीत के तौर पर देखा जाएगा।

Written by: April 30, 2019 9:52 am

नई दिल्ली। पाकिस्तान से संचालित आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर इसी हफ्ते वैश्विक आतंकवादी घोषित हो सकता है। अगर ऐसा होता है तो ये मोदी सरकार की कूटनीतिक जीत मानी जाएगी। इस मामले से संबंधित लोगों का कहना है कि चीन मसूद अजहर को लेकर अपना रवैया बदल सकता है और 1 मई को संयुक्त राष्ट्र में उसे ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करवाने में सकारात्मक भूमिका निभा सकता है।

14 फरवरी को हुए पुलवामा हमले के बाद से मसूद अजहर को ग्लोबल टेररिस्ट घोषित करने के लिए भारत को दुनिया भर के देशों का समर्थन मिला था। उस वक्त भी चीन के अड़ंगे की वजह से मसूद को वैश्विक आतंकी घोषित नहीं कराया जा सका था। लेकिन अब कहा जा रहा है 1 मई को संयुक्त राष्ट्र में चीन अपने इस रवैये में परिवर्तन ला सकता है।

बता दें कि 13 मार्च को अमेरिका, ब्रिटेन और फ्रांस द्वारा मसूद अजहर को ब्लैक लिस्ट करने का प्रस्ताव दिया गया था। जिसपर चीन ने कहा था कि यह एक पेचिदा मामला है और यह हल होने की दिशा में बढ़ रहा है।

चीन के रवैये में आ रहे बदलाव को लेकर माना जा रहा है कि उसका पाकिस्तान प्रेम अब कम हो रहा है। ऐसे में अगर मसूद का नाम ब्लैक लिस्ट में जाता है तो इसे मोदी सरकार की कूटनीतिक जीत के तौर पर देखा जाएगा।