Connect with us

दुनिया

New Scare: ब्रिटेन में मिला कोरोना का नया वैरिएंट XE, पहले के मुकाबले 10 गुना खतरनाक

अब तक कोरोना के तीन हाइब्रिड स्ट्रेन का पता चला है। इसमें पहला एक्सडी था। दूसरा एक्सएफ था और अब तीसरा एक्सई आया है। ताजा स्ट्रेन ओमिक्रॉन सब वैरिएंट का हाइब्रिड स्ट्रेन है। डब्ल्यूएचओ ने बताया है कि एक्सई वैरिएंट का पता ब्रिटेन में 19 जनवरी को चला।

Published

on

omicron

लंदन। कोरोना महामारी के वायरस के वैरिएंट और उसके स्ट्रेन पीछा छोड़ते नजर नहीं आ रहे हैं। ताजा वैरिएंट ओमिक्रॉन का आया है। विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO ने इशका नाम एक्सई दिया है। फिलहाल डब्लूएचओ ने कहा है कि एक्सई वैरिएंट की संक्रमण की रफ्तार ओमिक्रॉन के ही बीए-2 वैरिएंट से 10 गुना ज्यादा है। अब तक कोरोना के तीन हाइब्रिड स्ट्रेन का पता चला है। इसमें पहला एक्सडी था। दूसरा एक्सएफ था और अब तीसरा एक्सई आया है। ताजा स्ट्रेन ओमिक्रॉन सब वैरिएंट का हाइब्रिड स्ट्रेन है। डब्ल्यूएचओ ने बताया है कि एक्सई वैरिएंट का पता ब्रिटेन में 19 जनवरी को चला। इसके 600 मरीज मिले हैं। इसके बारे में और शोध किया जा रहा है।

omicrone

ब्रिटिश हेल्थ सिक्युरिटी एजेंसी ने बताया है कि मौजूदा दौर में ब्रिटेन में कोरोना के 3 हाइब्रिड वैरिएंट के मरीज मिल रहे हैं। इन मरीजों में डेल्टा और ओमिक्रॉन के बीए-1 स्ट्रेन से बना एक्सडी और एक्सएफ हैं। इनमें से एक्सडी वैरिएंट फ्रांस से पहुंचा है। इन स्ट्रेन में डेल्टा का जीन और बीए-1 का स्पाइक प्रोटीन पाया गया है। इसके 10 सीक्वेंस तैयार किए गए हैं। एक्सएफ का ताल्लुक ब्रिटेन के डेल्टा और बीए-1 से है। एक्सएफ में डेल्टा के जीन का 5वां हिस्सा ही होता है। एक्सई में ब्रिटेन के डेल्टा वैरिएंट के जीन और सीक्वेंस मिले हैं।

omicron

नामचीन वायरोलॉजिस्ट टॉम पीकॉक के मुताबिक रिकॉम्बिनेंट वैरिएंट भी पहले के वैरिएंट के जैसे खतरनाक हो सकते हैं। इनमें एक ही वायरस से स्पाइक और संरचना बनाने वाले प्रोटीन होते हैं। इनमें से फिलहाल एक्सडी सबसे अधिक चिंता वाला वैरिएंट लग रहा है। इस वैरिएंट के मरीज जर्मनी, नीदरलैंड और डेनमार्क में मिले हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement