Connect with us

दुनिया

अमेरिका की नजर से नहीं बचा पाया पाकिस्तान, भारत के खिलाफ रच रहा था साजिश, लगा झटका

भारत पर हमला या बदनाम करने की किसी भी साजिश से पाक पीछे नहीं हटना चाहता है। यह अलग बात है कि उसकी कई कोशिशों के बाद भी पाकिस्तान को हर बार मुंह की खानी पड़ती है। ऐसा ही कुछ इस बार भी हुआ। दरअसल,आतंकवाद को समर्थन देने के मुद्दे पर पाकिस्‍तान भारत को भी फंसाने की योजना में था। जिसको अमेरिका ने विफल कर दिया है।

Published

on

नई दिल्ली। भारत पर हमला या बदनाम करने की किसी भी साजिश से पाक पीछे नहीं हटना चाहता है। यह अलग बात है कि उसकी कई कोशिशों के बाद भी पाकिस्तान को हर बार मुंह की खानी पड़ती है। ऐसा ही कुछ इस बार भी हुआ। दरअसल,आतंकवाद को समर्थन देने के मुद्दे पर पाकिस्‍तान भारत को भी फंसाने की योजना में था। जिसको अमेरिका ने विफल कर दिया है।

Imran Khan

जम्‍मू-कश्‍मीर में सक्रिय आतंकवादी संगठन जैश-ए-मोहम्‍मद के सरगना मसूद अजहर के संयुक्‍त राष्‍ट्र के बैन करने के बाद पाकिस्‍तान ने यह नापाक साजिश रची थी। हालांकि अमेरिका ने संयुक्‍त राष्‍ट्र सुरक्षा परिषद में पाकिस्‍तान के प्रस्‍ताव को रोक दिया।

सूत्रों के मुताबिक अमेरिका ने सुरक्षा परिषद को शुक्रवार को आधिकारिक रूप से सूचित किया है कि वह आधिकारिक रूप से पाकिस्‍तान के प्रस्‍ताव को रोक रहा है। पाकिस्‍तान ने 4 भारतीय नागरिकों पर उसके यहां पर आतंकवाद फैलाने का आरोप लगाया था। इसमें अफगानिस्‍तान में सक्रिय भारतीय कंस्‍ट्रक्‍शन कंपनी के इंज‍िन‍ियर वेनू माधव डोंगरा भी शामिल हैं। पाकिस्तान इंजीनियर डोंगरा को वैश्विक आतंकी घोषित कराना चाहता था।

बता दें कि सितंबर 2019 से ही अमेरिका ने पाकिस्तान के इस प्रस्ताव को तकनीकी खामियों की वजह से रोक रखा था। अमेरिका ने इस दौरान पाकिस्तान को डोंगरा के खिलाफ आरोप को साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत जुटाने के लिए कहा था। पर इसके बावजूद पाकिस्तान इस बात पर जोर लगा था कि डोंगरा को वैश्विक आंतकी घोषित किया जाये। इसके बाद पिछले सप्ताह अमेरेका ने इस पाक के इस प्रस्ताव को ही खारिज कर दिया। अब इसके बाद अलग पाकिस्तान वेणु माधव डोंगरा पर आरोप लगाता है तो उसे नया प्रस्ताव जमा करना पड़ेगा।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement