चारों तरफ लताड़ खाने के बाद पाकिस्तान ने फिर शुरू की “पैगाम-ए-अमन”

पाकिस्तान की इमरान सरकार की पूरे विश्व में जमकर फजीहत हो रही है। कश्मीर के मुद्दे पर उन्हें कहीं से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। यहां तक कि इस्लामिक देशों ने भी पाकिस्तान के पक्ष में बयान तक जारी करने से इंकार कर दिया।

Written by: August 27, 2019 11:01 am

नई दिल्ली। पाकिस्तान की इमरान सरकार की पूरे विश्व में जमकर फजीहत हो रही है। कश्मीर के मुद्दे पर उन्हें कहीं से भी कोई मदद नहीं मिल पा रही है। यहां तक कि इस्लामिक देशों ने भी पाकिस्तान के पक्ष में बयान तक जारी करने से इंकार कर दिया।

imran khan 1

G7 समिट में पीएम मोदी और प्रेसिडेंट ट्रंप के बीच के केमिस्ट्री ने पाकिस्तान के होश फाख्ता कर दिए। अब हर तरफ से थका, हारा, चोट खाया पाकिस्तान एक बार फिर से अमन के पैगाम के रास्ते पर लौटने के लिए मजबूर हो गया है। पाकिस्तान ने जम्मू-कश्मीर और पीओके के बीच चलने वाली ‘पैगाम-ए-अमन’ बस सेवा को फिर से शुरू कर दिया है।

modi-trump

यह बस सेवा जम्मू-कश्मीर के पुंछ और पाक अधिकृत कश्मीर के रावलकोट के बीच चलती थी। हर सोमवार बसें आती जाती थी। मगर पिछले 19 अगस्त को पाकिस्तान की ओर से इसे रद्द कर दिया गया था। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर के अधिकारियों ने इस बस को लाइन ऑफ कंट्रोल पार नहीं करने दिया था।उन्होंने भारत की ओर से इस बाबत संवाद का भी कोई जवाब नहीं दिया था। इतना ही नहीं पाकिस्तान सरकार ने भारत से हर तरह के संबंध तोड़ देने की धमकी भी दी थी।

imran khan

मगर इस धमकी के 10 दिनों के भीतर पाकिस्तान को अपनी जमीन पता चल गई है। इस बस सेवा के फिर से शुरू होने के बाद पाक अधिकृत कश्मीर के 40 यात्री और छह भारतीय यात्री अपने-अपने ठिकानों के लिए रवाना हो गए हैं। यह बस सेवा जून 2006 में पुंछ-रावलकोट मार्ग पर शुरू की गई थी। इसके पीछे का मकसद यह था कि एलओसी के दोनों और रह रहे परिवार आपस में संवाद कर सकें।