देशों की सूची से निकालने पर फिलिस्तीन ने अमेरिका की निंदा की

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, फिलिस्तीन के सरकारी प्रवक्ता नबिल अबु रुदैनेह ने रविवार को एक आधिकारिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस निर्णय में अमेरिका की विदेश नीति में अभूतपूर्व गिरावट दिखती है।

Written by: August 26, 2019 12:09 pm

रामल्ला। फिलिस्तीन को देशों और प्रांतों की अपनी सूची से निकालने पर फिलिस्तीन के अधिकारियों ने अमेरिका की निंदा की है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, फिलिस्तीन के सरकारी प्रवक्ता नबिल अबु रुदैनेह ने रविवार को एक आधिकारिक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि इस निर्णय में अमेरिका की विदेश नीति में अभूतपूर्व गिरावट दिखती है। रुदैनेह ने कहा, “यह निर्णय एक बार फिर दिखाता है कि अमेरिका ना सिर्फ इजरायल का पक्ष ले रहा है, बल्कि इजरायल के कट्टर दक्षिणपंथ की योजनाओं के पूरे सहयोग में है।”

Nabil Abu Rudeineh

रविवार को इससे पहले इजरायल रेडियो ने बताया था कि अमेरिकी विदेश विभाग ने अपनी आधिकारिक वेबसाइट से फिलिस्तीनी सीमा या फिलिस्तीनी प्रशासन से संबंधित सभी जानकारियों को डिलीट कर दिया। दिसंबर 2017 में जेरूसलम को इजरायल की राजधानी के रूप में मान्यता देने की अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की घोषणा के बाद से फिलिस्तीन और अमेरिका के बीच राजनीतिक संबंध नाजुक दौर में पहुंच चुके हैं।

Nabil Abu Rudeineh

मई 2018 में वाशिंगटन ने इजरायल में अपने दूतावास को जेरूशलम स्थानांतरित कर दिया था। रविवार को फिलिस्तीनी विदेश मंत्रालय ने भी फिलिस्तीन या फिलिस्तीनियों को संबोधित करने वाले सभी शब्दों को अपनी आधिकारिक वेबसाइट से हटाने के लिए अमेरिका की निंदा की थी।

donald-trump-

मंत्रालय ने एक बयान में कहा, “वर्तमान अमेरिकी सरकार दो-राष्ट्र समाधान को नष्ट करने और अपने अधिकारों से बचने के लिए इजरायल की योजना को लागू करती है।”