तुर्की ने अमेरिका को चुनावों में दखल नहीं देने की चेतावनी दी

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एकेपी के प्रवक्ता ओमर सेलिक ने तुर्की के चुनावों की प्रक्रिया के संबंध में अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा की गई टिप्पणी की निंदा करते हुए गुरुवार को कहा, “किसी भी विदेशी सरकार या निकाय का बयान चुनाव परिणामों के लिए वैधता के स्रोत के रूप में काम नहीं करेगा।”

Written by Newsroom Staff April 5, 2019 10:13 am

अंकारा।  तुर्की की सत्तारूढ़ जस्टिस एंड डेवलपमेंट पार्टी (एकेपी) ने अमेरिका को रविवार को हुए देश के स्थानीय चुनावों में दखल न करने की चेतावनी दी है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, एकेपी के प्रवक्ता ओमर सेलिक ने तुर्की के चुनावों की प्रक्रिया के संबंध में अमेरिकी विदेश विभाग द्वारा की गई टिप्पणी की निंदा करते हुए गुरुवार को कहा, “किसी भी विदेशी सरकार या निकाय का बयान चुनाव परिणामों के लिए वैधता के स्रोत के रूप में काम नहीं करेगा।”


अमेरिकी विदेश विभाग के प्रवक्ता रॉबर्ट पैलाडिनो ने शुरुआती गिनती के बाद मंगलवार को सभी दलों से आह्वान किया था कि चुनावों के नतीजों को मान्यता दी जाए, जिसमें मुख्य विपक्ष सबसे बड़े शहर इस्तांबुल और राजधानी अंकारा में आगे चल रहा था।

पैलाडिनो ने कहा, “स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव किसी भी लोकतंत्र के लिए आवश्यक हैं। इसका मतलब है कि वैध चुनाव परिणामों की स्वीकृति।”इसके जवाब में, तुर्की के राष्ट्रपति के कम्युनिकेशन्स डायेरक्टर फहरेत्तिन अल्तुन ने बुधवार को अपने ट्विटर अकाउंट पर कहा कि तुर्की विदेशी सरकारों सहित सभी पक्षों से “तुर्की की कानूनी प्रक्रिया का सम्मान करने और कोई भी ऐसा कदम उठाने से बचने का आग्रह करता है जो तुर्की के आंतरिक मामलों में दखल देना माना जा सकता हो।”

तुर्की के चुनाव आयोग ने सत्तारूढ़ पार्टी द्वारा परिणामों को लेकर अपील करने के बाद बुधवार को इस्तांबुल के आठ जिलों में वोटों की गिनती दोबारा करने का फैसला किया था।