आतंकवाद पर पाक पीएम इमरान खान ने किया बड़ा कबूलनामा

दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान ने रूस के एक अंग्रेजी न्‍यूज चैनल RT को दिए इंटरव्‍यू में कबूल करते हुए कहा है कि 1980 में अफगानिस्‍तान में रूस (तत्‍कालीन सोवियत संघ) के खिलाफ लड़ने के लिए पाकिस्‍तान ने जेहादियों को तैयार किया। उन्‍हें ट्रेनिंग दी।

Written by: September 13, 2019 9:20 am

नई दिल्ली। कश्मीर मुद्दे को लेकर अंतरराष्ट्रीय मंचों पर फजीहत करने वाले पाकिस्तान ने अब आतंकवाद पर बड़ा कबूलनामा किया है। दरअसल पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने रूस के एक अंग्रेजी न्‍यूज चैनल RT को दिए इंटरव्‍यू में कबूल करते हुए कहा है कि 1980 में अफगानिस्‍तान में रूस (तत्‍कालीन सोवियत संघ) के खिलाफ लड़ने के लिए पाकिस्‍तान ने जेहादियों को तैयार किया। उन्‍हें ट्रेनिंग दी।

Imran Khan

इंटरव्‍यू में एक तरफ से उन्‍होंने अमेरिका पर आरोप लगाते हुए कहा कि शीत युद्ध के उस दौर में रूस के खिलाफ पाकिस्‍तान ने अमेरिका की मदद की।जेहादियों को रूसियों के खिलाफ लड़ने के लिए ट्रेनिंग दी। लेकिन इसके बावजूद अब अमेरिका, पाकिस्‍तान पर आरोप लगा रहा है।

उन्‍होंने कहा कि 1980 के दशक में पाकिस्तान ऐसे मुजाहिद्दीन लोगों को प्रशिक्षण दे रहा था कि जब सोवियत यूनियन, अफगानिस्तान पर कब्जा करेगा तो वो उनके खिलाफ जेहाद का ऐलान करें। इन लोगों की ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान को पैसा अमेरिका की एजेंसी CIA द्वारा दिया गया। लेकिन एक दशक बाद जब अमेरिका, अफगानिस्तान में आया तो उसने उन्हीं समूहों को जो पाकिस्तान में थे, जेहादी से आतंकवादी होने का नाम दे दिया।

imran khan 1

हालांकि ये भी सही है कि एक तरफ जहां इमरान खान इस सच्‍चाई को परोक्ष रूप से स्‍वीकार कर रहे हैं कि उनकी सरजमीं का इस्‍तेमाल आतंकवादी गतिविधियों के लिए हुआ है, वहीं दूसरी तरफ वह कश्‍मीर पर अंतरराष्‍ट्रीय समर्थन की अपेक्षा कर रहे हैं।