Afghanistan: तालिबान को World Bank ने दिया बड़ा झटका, पर मदद में सामने आ गया चीन

Taliban: अफगानिस्तान के अफगान सेंट्रल बैंक के अरबों डॉलर पर अमेरिका का नियंत्रण है। जर्मनी और यूरोपीय संघ के अलावा कनाडा भी कह चुका है कि वह किसी सूरत में तालिबान के शरीयत वाले शासन को वित्तीय मदद नहीं देगा। ऐसे में चीन अगर तालिबान की मदद में आगे आता भी है, तो उसे तालिबान को काफी पैसा देना पड़ेगा और इसके एवज में वह खनिजों पर अपना कब्जा चाहेगा।

Written by: August 25, 2021 8:06 am

काबुल। अफगानिस्तान पर कब्जा जमा चुके तालिबान को वर्ल्ड बैंक ने तगड़ा झटका दिया है। बैंक ने साफ कह दिया है कि वह तालिबान शासन को किसी तरह की वित्तीय मदद नहीं देगा। वर्ल्ड बैंक के एक अधिकारी ने बताया कि अफगानिस्तान को आर्थिक मदद देने पर रोक लगा दी गई है। हम अभी निगरानी और आकलन कर रहे हैं। बता दें कि वर्ल्ड बैंक ने साल 2002 में तालिबान के पतन से बीते दिनों तक अफगानिस्तान को 5.3 अरब डॉलर की मदद दी थी, लेकिन मौजूदा हालात को देखते हुए उसने हाथ खींच लिए हैं। वर्ल्ड बैंक के इस फैसले से तालिबान को अफगानिस्तान को संभालना काफी मुश्किल हो सकता है, लेकिन चीन उसकी मदद में आगे आता दिख रहा है।

taliban

चीन की ओर से संकेत दिया गया है कि वह तालिबान को वित्तीय मदद देगा। चीन ने कहा है कि वह युद्धग्रस्त देश की मदद में सकारात्मक कदम उठाएगा। चीन के विदेश मंत्रालय के अनुसार अमेरिका ने अफगानिस्तान को संकट में डाला है। अमेरिका से चीन ने कहा है कि वह अफगानिस्तान के पुनर्निर्माण के लिए कुछ किए बिना ऐसे ही उसे छोड़कर नहीं जा सकता। इससे पहले भी चीन ने तालिबान की तारीफ की थी और अफगानिस्तान में अपने पैर पसारने के बारे में संकेत दिए थे।

Taliban
उधर, न्यूयॉर्क टाइम्स की खबर के मुताबिक अफगानिस्तान के अफगान सेंट्रल बैंक के अरबों डॉलर पर अमेरिका का नियंत्रण है। जर्मनी और यूरोपीय संघ के अलावा कनाडा भी कह चुका है कि वह किसी सूरत में तालिबान के शरीयत वाले शासन को वित्तीय मदद नहीं देगा। ऐसे में चीन अगर तालिबान की मदद में आगे आता भी है, तो उसे तालिबान को काफी पैसा देना पड़ेगा और इसके एवज में वह खनिजों पर अपना कब्जा चाहेगा।

Support Newsroompost
Support Newsroompost