Connect with us

ज्योतिष

Basant Panchami 2023: 26 जनवरी को है बसंत पंचमी, इन उपायों से नौकरी में मिलेगा प्रमोशन

Basant Panchami 2023: जो लोग अपने जीवन में बुद्धि, ज्ञान और अज्ञानता से छुटकारा पाने के लिए मां की सच्चे-साफ मन से पूजा-पाठ करते हैं। इस दिन ((Basant Panchami 2023 kab hai)) कई उपाय भी किए जाते हैं जो आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव लाते हैं। नौकरी में सफलता के लिए आप इस दिन कई उपाय कर सकते हैं…

Published

Basant Panchami 2023,.

नई दिल्ली। इस साल बसंत पंचमी 26 जनवरी को गणतंत्र दिवस के मौके पर मनाई जाएगी। इस दिन को सरस्वती पूजा के नाम से जाना जाता है। कहते हैं बसंत पंचमी (Basant Panchami 2023) के दिन ही मां सरस्वती प्रकट हुई थी। मां सरस्वती विद्या, कला और संगीत की देवी है। ऐसे में इस क्षेत्र के लोग इस दिन मां की पूजा करते हैं। जो लोग अपने जीवन में बुद्धि, ज्ञान और अज्ञानता से छुटकारा पाने के लिए मां की सच्चे-साफ मन से पूजा-पाठ करते हैं। इस दिन (Basant Panchami 2023 kab hai) कई उपाय भी किए जाते हैं जो आपके जीवन में सकारात्मक बदलाव लाते हैं। नौकरी में सफलता के लिए आप इस दिन कई उपाय कर सकते हैं…

Basant Panchami 2023.

क्या है बसंत पंचमी तिथि 2023

साल 2023 में 26 जनवरी 2023 को बसंत पंचमी का त्योहार मनाया जाएगा। पंचांग के अनुसार, माघ शुक्ल पंचमी तिथि 25 जनवरी 2023 की दोपहर 12 बजकर 34 मिनट से शुरू हो रही है जो कि 26 जनवरी 2023 की सुबह 10 बजकर 28 मिनट तक रहेगी। उद्या तिथि के हिसाब से बसंत पंचमी 26 जनवरी 2023 को मनाई जाएगी।

Basant Panchami 2023...

नौकरी में प्रमोशन के लिए करें ये उपाय

  • बसंत पंचमी वाले दिन सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि से निवृत्त हो जाएं। मां सरस्वती को पीला रंग पसंद है ऐसे में आप इस दिन पीले रंग के कपड़े पहने और फिर विधिवत मां की पूजा करें।
  • मां सरस्वती को पीले रंग के फूल और मिठाइयों का भोग लगाएं।
  • बसंत पंचमी के दिन ‘ॐ वागदैव्यै च विद्महे कामराजाय धीमहि,  तन्नो देवी प्रचोदयात्.’ इन दोनों ही मंत्रों का भी आप जाप कर सकते हैं। इससे आपका ज्ञान तो बढ़ेगा ही साथ ही आपके जीवन में सुख-समृद्धि भी आएगी।

  • बसंत पंचमी के दिन सरस्वती गायत्री मंत्र की 5 माला का जाप करने से मां सरस्वती प्रसन्न हो जाती है और इससे करियर में भी तरक्की मिलती है।
  • अगर आपके करियर में किसी तरह की कोई बाधाएं आ रही है तो बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती के सामने दो मुखी दीपक जलाएं। इसके अलावा ‘पद्माक्षी ॐ पद्मा क्ष्रैय नमः’ मंत्र का कम से कम 108 बार जाप करें।
Advertisement
Advertisement
Advertisement