दुनिया

दरअसल एलएसी पर भारतीय सैनिकों के साथ उलझना चीन की कम्युनिस्ट सरकार के लिए बहुत भारी पड़ रहा है। एक तरफ जहां भारत सरकार ने जहां उसके खिलाफ आर्थिक मोर्चेबंदी शुरू कर दी है, वहीं उसे अपने देश के लोगों को भी गलवान घाटी की झड़प पर जवाब देते नहीं बन रहा है।

पाकिस्तान की राजधानी इस्लामाबाद में पहला हिन्दू मंदिर बनाए जाने से पहले ही बवाल शुरू हो गया है। कई धार्मिक संस्थाओं ने सरकार के फैसले का विरोध करते हुए इसे इस्लाम विरोधी करार दिया। अब पाकिस्तान में कृष्ण मंदिर के खिलाफ फतवा जारी कर दिया।

चीन का चेहरा अब धीरे धीरे दुनिया के सामने आ रहा है। चीन पर सीमा पर जोर जबरदस्ती, हांगकांग में अत्याचार, मानवाधिकार का उल्लंघन और कोरोना वायरस फैलाने का आरोप है। ऐसा लग रहा है अब चीन की इन हरकतों से पूरी दुनिया अब तंग आ चुकी है।

नेपाल की सियासत में अचानक हलचल बढ़ गई है। देश के प्रधानमंत्री खड्ग प्रसाद शर्मा ओली गुरुवार को राष्ट्रपति बिद्या देवी भंडारी से मिलने शीतल निवास पहुंचे। इससे तमाम तरह की अटकलें शुरू हो गई हैं।

हेली ने बुधवार को ट्वीट किया, "भारत द्वारा चीनी कंपनियों के 59 लोकप्रिय ऐप्स पर प्रतिबंध लगाना देखकर अच्छा लगा जिसमें टिकटॉक भी शामिल है, जो भारत को अपने सबसे बड़े बाजारों में मानता है।"

अपने सार्वजनिक बयान में क्लार्क ने कहा, "यह कोई रहस्य नहीं है कि स्वास्थ्य एक चुनौतीपूर्ण पोर्टफोलियो है। मैंने अपना सब कुछ इसे दिया है। लेकिन मुझे यह स्पष्ट हो गया है कि कोविड-19 महामारी के लिए सरकार की समग्र प्रतिक्रिया में मेरी भूमिका लगातार छोटी होती जा रही है।"

व्हाइट हाउस की प्रेस सचिव कायले मैकनेनी ने बताया कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है, 'भारत और चीन के संबंध में हम स्थिति की बारीकी से निगरानी कर रहे हैं। भारत और चीन दोनों ने तनाव कम करने की इच्छा व्यक्त की है। हम वर्तमान स्थिति के शांतिपूर्ण समाधान का समर्थन करते हैं।'

वाशिंगटन में संवाददाताओं के साथ बातचीत में माइक पोम्पियो ने कहा, 'चीन द्वारा जासूसी के लिए उपयोग की जा रही एप पर भारत द्वारा लगाए गए प्रतिबंध का हम स्वागत करते हैं। इससे भारत की संप्रभुता के साथ ही आंतरिक और राष्ट्रीय सुरक्षा की रक्षा होगी। भारत सरकार ने भी अपने बयान में ऐसा ही कहा है।'

सूत्रों के अनुसार, हाल ही के दिनों में चीन और पाकिस्तान के सैन्य अधिकारियों के बीच कई बैठकें हुईं हैं। इसके बाद ही पाकिस्तान ने पीओके में 20 हजार सैनिक तैनात किए हैं।