बिजनेस

घरेलू शेयर बाजार की शुरुआत गुरुवार को तेजी के साथ हुई लेकिन कमजोर कारोबारी रूझान के कारण बाजार की चाल सुस्त पड़ गई। सेंसेक्स और निफ्टी दोनों में गिरावट दर्ज की गई। वहीं, डॉलर के मुकाबले रुपया भी मामूली बढ़त के साथ खुलने के बाद कमजोर पड़ गया।

देश के शेयर बाजार में तेजी के बावजूद देसी करेंसी रुपये की चाल सुस्त पड़ गई है। डॉलर के मुकाबले रुपया बुधवार को पिछले सत्र से 29 पैसे की कमजोरी के साथ 71.75 रुपये प्रति डॉलर पर खुला जोकि करीब दो महीने के निचले स्तर पर चला गया।

घरेलू शेयर बाजार में बुधवार को कमजोर विदेशी संकेतों और घरेलू कारकों से शुरुआती कारोबार के दौरान प्रमुख संवेदी सूचकांकों में उतार-चढ़ाव का सिलसिला बना रहा। पूर्वाह्न् 9.47 बजे सेंसेक्स 8.11 अंकों की बढ़त के साथ 40,353.19 पर बना हुआ था जबकि निफ्टी 5.20 अंकों की बढ़त के साथ कारोबार कर रहा था।

पेट्रोल के दाम में लगातार पांच दिनों से जारी वृद्धि पर बुधवार को ब्रेक लग गया और डीजल की कीमत में भी कोई बदलाव नहीं हुआ। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के दाम में भी नरमी बनी हुई थी। एक दिन पहले मंगलवार को तेल विपणन कंपनियों ने दिल्ली, मुंबई और चेन्नई में पेट्रोल के दाम में 10 पैसे जबकि कोलकाता में नौ पैसे प्रति लीटर की वृद्धि की थी।

गुरु नानक जयंती के अवसर पर अवकाश होने के कारण आज मंगलवार को देश के शेयर बाजार एवं कमोडिटी वायदा बाजार में कारोबार बंद है।

घरेलू शेयर बाजार में सोमवार को कमजोर कारोबारी रुझान के कारण शुरुआती घंटे के कारोबार के दौरान उतार-चढ़ाव का दौर जारी रहा। प्रमुख संवेदी सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में लाल निशान के साथ कारोबार चल रहा था।

देश की राजधानी दिल्ली में पेट्रोल का दाम फिर 73 रुपये प्रति लीटर से ऊपर चला गया है। तेल विपणन कंपनियों ने रविवार को लगातार तीसरे दिन पेट्रोल के दाम बढ़ा दिए। हालांकि डीजल के दाम में कोई बदलाव नहीं हुआ है।

आसमान छूते प्याज के दाम को काबू में करने के लिए केंद्र सरकार ने एक बड़ा फैसला लेते हुए एमएमटीसी को एक लाख टन प्याज आयात करने का निर्देश दिया है।

नोटबंदी का एक महत्वपूर्ण लक्ष्य लेनदेन में नकदी का इस्तेमाल घटाना और लोगों को भुगतान के लिए गैर-नकदी माध्यमों के इस्तेमाल के लिए प्रोत्साहित करना था, लेकिन ऐसा लगता है कि भारतीय अर्थव्यवस्था में नकदी का उपयोग घट नहीं रहा है।