ज्योतिष

Sawan 2021: सावन का महीना शुरु हो चुका है। आज सावन का पहला सोमवार है। जिसका काफी महत्तव है। ऐसे में इस खास मौके पर देश में श्रद्धालु भगवान शिव की पूजा करने के लिए मंदिरों में सुबह से पहुंच चुके हैं।

Sawan 2021: सबसे पहले प्रातः काल या प्रदोष काल में स्नान करें इसके बाद भगवान शिव मंदिर जाएं। मंदिर नंगे पैर ही जायें और घर से ही लोटे में जल भरकर ले जाएं। मंदिर में आपको शिवलिंग पर जल भी चढ़ाना चाहिए। इसके बाद भगवान को साष्टांग करें। फिर भगवान भोले के मंत्र का 108 बार जाप करें।

Sawan Shivratri: हर महीने चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि मनाई जाती है। वहीं सावन महीने की शिवरात्रि चतुर्दशी तिथि यानी 6 अगस्त के दिन पड़ेगी। कहा जा रहा है कि इस पार 6 और 7 अगस्त को शिवरात्रि मनाई जाएगी। लेकिन शिवरात्रि की पूजा रात में होती है

Sawan 2021: इस बार सावन के महीने में कई शुभ योग बन रहे हैं। द्विपुष्कर, त्रिपुष्कर, सर्वार्थ सिद्धि, अमृतसिद्धि और रविपुष्य योग बन रहे हैं। यानी इस बार सावन का महीना अपने साथ कई शुभ संयोग लेकर आया है। सावन के महीने की शुरुआत द्विपुष्कर के शुभ योग से हो रही है। जिसके चलते कई राशियों के जातको को धन का लाभ होने वाला है। आपको बताएंगे की किन राशियों को इस द्विपुष्कर योग का लाभ मिलेगा। लेकिन उससे पहले यह जानना भी जरूरी है कि द्विपुष्कर योग क्या है।

Weekly Horoscope: इस सप्ताह आपका पारिवारिक जीवन, आर्थिक दशा, स्वास्थ्य व कार्यक्षेत्र में आपकी स्थिति कैसी रहेगी, यह जानने के लिए प्रस्तुत है, आपकी लग्नराशि पर आधारित कलाशांति ज्योतिष साप्ताहिक राशिफल।

Sawan 2021: अगर आपके वैवाहिक जीवन में कुछ समस्या आ रही है तो आपको बरसात का पानी एक कांच की बोतल में भरकर इसे अपने शयन कक्ष यानी जहां पर आप सोते हैं वहां रखक दें। इससे आपके वैवाहिक जीवन में आ रही परेशानियां धीरे-धीरे कम होने लगती है।

Guru purnima 2021: गुरु पूर्णिमा को व्यास जयंती के नाम से भी जाना जाता है। इस दिन व्यक्ति अपने गुरु की पूजा करता है और उन्हें अपने जीवन को नई दिशा देने के लिए उनका आभार प्रकट करता है। ऐसे में गुरु पूर्णिमा के मौके पर आज हम आपको बताएंगे कुछ ऐसे मैसेजेस के बारे में जिसे आप अपने गुरुओं को भेजकर इस खास दिन की शुभकामनाएं उन्हें दे सकते हैं।

Happy Guru Purnima 2021: इस दिन शिष्य अपने गुरु की विशेष पूजा करता है और उसे यथाशक्ति दक्षिणा,पुष्प,वस्त्र आदि भेंट करता है। शिष्य इस दिन अपनी सारे अवगुणों को गुरु को अर्पित कर देता है, तथा अपना सारा भार गुरु को दे देता है।

Happy Guru Purnima 2021: इस दिन वेदों का ज्ञान देने वाले और पुराणों के रचनाकार महर्षि वेद व्यास जी का जन्म हुआ था। मानव जाति के कल्याण और ज्ञान के लिए उनके योगदान को देखते हुए उनकी जयंती को गुरु पूर्णिमा के रुप में मनाते हैं।