देश

अदालत ने प्रदर्शनकारियों से बातचीत करने के लिए सोमवार को वरिष्ठ वकील संजय हेगड़े, साधना रामचंद्रन और पूर्व मुख्य सूचना आयुक्त वजाहत हबीबुल्लाह को वार्ताकार नियुक्त किया था।

अयोध्या में बनने जा रहे राम मंदिर के निर्माण की कोर टीम में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के दो प्रमुख सिपहसालार शामिल होंगे। अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए गठित राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट में यूपी के  इन दो आईएएस अफसरों को शामिल किया जाना तय है।

इस मामले में पिछले साल मई में मैजिस्ट्रेट कोर्ट ने अमानतुल्ला को बरी कर दिया था। जिसके बाद दिल्ली पुलिस ने उस आदेश को सेशन कोर्ट को चुनोती दी थी। आज सेशन कोर्ट ने भी मजिस्ट्रेट कोर्ट के आदेश को बरकरार रखा है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल बुधवार को गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात करेंगे। अमित शाह के साथ होने वाली इस मुलाकात को शिष्टाचार भेंट बताया जा रहा है। केजरीवाल से गृहमंत्री की यह मुलाकात नार्थ ब्लॉक में होने जा रही है।

राकेश मारिया ने लिखा है कि, "अगर लश्कर का प्लान सफल हो जाता तो उस रोज सारे अखबार और टीवी चैनलों पर ‘हिंदू आतंकवाद’ की हेडिंग ही दिखती, लेकिन लश्कर की साजिश पर पानी फिर गया।

मध्य प्रदेश कांग्रेस में घमासान तेज होता जा रहा है। मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच लड़ाई खुलकर सामने आ गई है। सिंधिया ने सड़क पर उतरने की चेतावनी भी दे दी है। इसके जवाब में कमलनाथ ने उन्हें सड़क पर उतरने का न्योता भी दे दिया है।

दिल्ली महिला आयोग (डीसीडब्ल्यू) की प्रमुख स्वाति मालीवाल ने बुधवार को कहा कि उन्होंने अपने पति और आम आदमी पार्टी (आप) नेता नवीन जयहिंद से तलाक ले लिया है। स्वाति मालीवाल ने इस बात की जानकारी अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर दी। उन्होंने एक भावुक पोस्ट लिखकर अपने तलाक के बारे में बताया।  

राम जन्म भूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की पहली औपचारिक बैठक बुधवार को शाम 5 बजे दिल्ली में होगी। इसमें शामिल होने के लिए अयोध्या के तीनों ट्रस्टी महंत दिनेद्र दास, विमलेंद्र मोहन प्रताप मिश्र और डॉ. अनिल मिश्र दिल्ली आ गए है। शंकराचार्य बासुदेवानन्द जी सरस्वती मंगलवार को ही दिल्ली पहुंच गए थे।

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप भारत दौरे पर पहुंच रहे हैं। उससे पहले ही भारत और अमेरिका के बीच एक बड़े रक्षा सौदे को मंजूरी मिलने जा रही है। कैबिनेट मीटिंग से पहले होने वाली सीसीएस (कैबिनेट कमिटी ऑन सिक्योरिटी) की बैठक में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के दौरे पर होने वाले डिफेंस डील्स को  मंजूरी दी जा सकती है।