Connect with us

ज्योतिष

Vastu Tips: बहुमंजिला घरों में कैसे कराए मन्दिर निर्माण, इन बातों का रखें ध्यान

Vastu Tips : हम बहुमंजिला घर (Multi-Storey House) बना तो लेते हैं लेकिन उनमे होने वाली दिक्कतों को नजर अंदाज कर देते हैं। अगर आप भी बहुमंजिला घरों में परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो हम आपको वास्तु दोष (Vastu Dosha) के बारे में बताएंगे।

Published

on

Use the mirror (mirror) according to Vaastu

नई दिल्ली। हम बहुमंजिला घर (Multi-Storey House) बना तो लेते हैं लेकिन उनमे होने वाली दिक्कतों को नजर अंदाज कर देते हैं। अगर आप भी बहुमंजिला घरों में परेशानियों का सामना कर रहे हैं तो हम आपको वास्तु दोष (Vastu Dosha) के बारे में बताएंगे। बहुमंजिला घर में मन्दिर के निर्माण (Mnadir in House) से ये दोष खत्म हो सकते हैं।

mandir at home

वास्तु शास्त्र के अनुसार बहुमंजिला घरों में मन्दिर के लिये सबसे निचली मंजिल का, यानी ग्राउंड फ्लोर का उपयोग करना चाहिए। कई लोग घरों में जगह न होने के कारण मन्दिर को कमरे की किसी अलमारी या कोने में स्थापित करते है।

लेकिन कुछ लोग अपने घर में या ऑफिस में भी अलग से मन्दिर के लिये कमरे का निर्माण करवाते हैं। घर में मन्दिर बनवाने के लिए आप ईशान कोण या पूर्व दिशा में कर सकते हैं। कमरे का दरवाजा भी आपको इन्हीं दिशाओं में लगवाना चाहिए।

साथ ही ध्यान रहे मन्दिर वाले कमरे में एक खिड़की या रोशनदान जरूर होना चाहिए, जिससे वहां पर हर समय रोशनी बनी रहे। अगर खिड़की या रोशनदान की व्यवस्था न हो तो आप कमरे में एक लाल या पीले रंग का लट्टू जलाकर रखिए।

वास्तु शास्त्र के अनुसार बहुमंजिला घरों में मन्दिर के लिये सबसे निचली मंजिल का, यानी ग्राउंड फ्लोर का उपयोग करना चाहिए। सामान्यतया लोग घरों में जगह न होने के कारण मन्दिर को कमरे की किसी अलमारी या कोने में स्थापित करते हैं, लेकिन कुछ लोग अपने घर में या ऑफिस में भी अलग से मन्दिर के लिये कमरे का निर्माण करवाते हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement