Connect with us

ऑटो

Auto News : मारुति सुजुकी की 9925 कारों में सामने आई खराबी की शिकायतें, कंपनी ने खराबी चेक करने के लिए वापस मंगाई कारें

Auto News : मारुति सुजुकी ने अपनी बीएसई फाइलिंग में कहा कि हमें यह संदेह है कि रियर ब्रेक असेंबली पिन (पार्ट) में एक खराबी है, जो यात्रा करते वक्त काफी आवाज भी करता है। इस खराबी के कारण लॉन्ग टाइम के लिए ब्रेक के प्रदर्शन पर प्रभाव पड़ सकता है।

Published

नई दिल्ली। मारुति सुजुकी भारत की सबसे बड़ी ऑटोमोबाइल कंपनियों में से एक है, सुजुकी अपनी बजट कारों को लेकर भारतीय लोगों की पसंदीदा कंपनियों में से एक मानी जाती है। मारुति ने शनिवार को घोषणा की है कि उसने वैगन आर, सेलेरियो और इग्निस की 9,925 यूनिट्स को रिकॉल किया है। कंपनी ने ऐसी कारों को रिकॉल किया है, जिनकी मैन्युफैक्चरिंग 3 अगस्त से 1 सितंबर 2022 के बीच हुई है। कंपनी ने कहा कि रियर ब्रेक असेंबली पिन में खराबी का पता चला है। मारुति सुजुकी ने कहा कि ग्राहकों की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए गाड़ी को वापस बुलाने का फैसला किया है। कंपनी ने यह भी कहा कि कार के खराब हिस्से को फ्री में चेंज किया जाएगा। कंपनी के पास बीते कई महीनों से इन कारों में खराबी की शिकायतें आ रही थी, जिसके बाद कंपनी ने ये फैसला किया है।

जानिए कंपनी ने क्या कहा?

आपको बता दें कि मारुति सुजुकी ने अपनी बीएसई फाइलिंग में कहा कि हमें यह संदेह है कि रियर ब्रेक असेंबली पिन (पार्ट) में एक खराबी है, जो यात्रा करते वक्त काफी आवाज भी करता है। इस खराबी के कारण लॉन्ग टाइम के लिए ब्रेक के प्रदर्शन पर प्रभाव पड़ सकता है। ग्राहकों की सेफ्टी को ध्यान में रखते हुए कंपनी ने डिफेक्टेड पार्ट की टेस्टिंग के लिए गाड़ियों को वापस रिकॉल करने का निर्णय किया है। वहीं इसपर जानकारी देते हुए कंपनी की तरफ से बताया गया है कि रिप्लेसमेंट का भी अरेंजमेंट किया जा रहा है। कंपनी मारुति सुजुकी खुद अपने उन ग्राहकों से संपर्क करेगी, जिनकी कार में खराबी है।

maruti alotमारुति सुजुकी ने शुक्रवार को सितंबर 2022 को समाप्त तिमाही के लिए स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट की घोषणा की, जिससे पता चलता है कि सालाना आधार पर कंपनी का स्टैंडअलोन नेट प्रॉफिट चार गुना से ज्यादा बढ़कर 2,062 करोड़ रुपये हो गया है। तिमाही के लिए कंपनी का रेवेन्यू लगभग 46 प्रतिशत बढ़कर 29,931 करोड़ हो गया, जबकि तिमाही के लिए कुल बिक्री की मात्रा पिछले वर्ष की तुलना में 36 प्रतिशत अधिक 517,395 यूनिट्स थी। आपको बता दें कि मारुति सुजुकी जल्द ही भारतीय बाजार में इलेक्ट्रिक कार लाने के विचार में है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement