भारत: उपभोक्ता बाजार में पहली तिमाही में दर्ज हुई रिकॉर्ड बढ़ोतरी

Consumer market: उद्योग खुफिया समूह (आईआईजी), सीएमआर की शिप्रा सिन्हा ने कहा, “घर से काम करने और रिमोट लर्निंग के कारण पीसी की बढ़ती प्रासंगिकता के लिए आंतरिक एसएसडी बाजार में बढ़ोतरी को काफी हद तक जिम्मेदार ठहराया गया है।

Written by: May 18, 2021 3:01 pm
Market

नई दिल्ली। उपभोक्ता आंतरिक एसएसडी बाजार शिपमेंट ने 2021 की पहली तिमाही में 34 प्रतिशत की बढ़ोतरी (तिमाही पर तिमाही) दर्ज की। वार्षिक आधार पर, समग्र बाजार ने वित्तीय वर्ष की पहली तिमाही में 172 प्रतिशत की बढ़ोतरी दर्ज की। इसकी जानकारी मंगलवार को एक रिपोर्ट के जरिये सामने आई। मार्केट रिसर्च फर्म सीएमआर की ‘इंडिया हार्ड ड्राइव मार्केट रिव्यू फॉर क्यू1 सीवाई2021’ के अनुसार, पीसीआई/एनवीएमई एसएसडी शिपमेंट्स ने छोटे आधार पर 433 फीसदी (वर्ष-दर-वर्ष) बढ़ोतरी दर्ज की, जबकि पोर्टेबल एसएसडी मार्केट शिपमेंट्स में साल की पहली तिमाही में 64 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई। समग्र उपभोक्ता आंतरिक एसएसडी बाजार में, डब्ल्यूडी ने 14 प्रतिशत की बाजार हिस्सेदारी पर कब्जा किया, उसके बाद एडाटा ने 13 प्रतिशत और क्रूसियल ने 12 प्रतिशत हिस्सेदारी के साथ तीसरे स्थान पर है।

विश्लेषक, उद्योग खुफिया समूह (आईआईजी), सीएमआर की शिप्रा सिन्हा ने कहा, “घर से काम करने और रिमोट लनिर्ंग के कारण पीसी की बढ़ती प्रासंगिकता के लिए आंतरिक एसएसडी बाजार में बढ़ोतरी को काफी हद तक जिम्मेदार ठहराया गया है। पारंपरिक एचडीडी पर एसएसडी की सर्वोच्च विशेषताओं के बारे में जागरूकता बढ़ने से अतिरिक्त बढ़ावा मिला है।” सिन्हा ने कहा, “एसएसडी के प्रति उपभोक्ताओं का झुकाव स्पष्ट रूप से पर्याप्त विकास के अवसर दे रहा था। कम जानने वाले ब्रांडों द्वारा एक महत्वपूर्ण योगदान देखा गया, जिससे समग्र आंतरिक एसएसडी आधार बढ़ गया।”

बाहरी एसएसडी बाजार में, सैमसंग 51 प्रतिशत बाजार हिस्सेदारी के साथ शीर्ष स्थान पर रहा और उसके बाद डब्ल्यूडी 41 प्रतिशत पर रहा। डब्ल्यूडी शिपमेंट में साल-दर-साल 32 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई, जबकि सैमसंग के शिपमेंट में सालाना आधार पर 109 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई। सीएमआर रिपोर्ट में कहा गया है कि सीगेट ने 6 फीसदी बाजार हिस्सेदारी के साथ तीसरा स्थान हासिल किया।

सीएमआर का अनुमान है कि एसएसडी अपनाने और पैठ बढ़ने के कारण सीवाई 2021 के आखिर तक आंतरिक एसएसडी बाजार 25-30 प्रतिशत (वर्ष-दर-वर्ष) बढ़ेगा, जिससे यह एक मुख्यधारा का उत्पाद बन जाएगा। पोर्टेबल एसएसडी के भी छोटे आधार पर सालाना 50 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है। सिन्हा ने कहा, “डेटा में लगातार बढ़ोतरी और डेटा प्रबंधन में बढ़ती जटिलता पोर्टेबल एसएसडी भविष्य के विकास को बढ़ावा देगी।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost