Gold Price: डॉलर की मजबूती के आगे कमजोर पड़ा सोना, चांदी भी फिसली

Gold Price: कमजोर वैश्विक संकेतों से घरेलू वायदा बाजार में भी सोने का भाव (Gold Prices) 350 रुपये प्रति 10 ग्राम से ज्यादा टूटा और चांदी (Silver Price) भी एक फीसदी से ज्यादा फिसली।

Written by: March 30, 2021 9:28 am
gold silver

नई दिल्ली। अमेरिकी डॉलर में आई मजबूती के आगे सोना एक बार फिर कमजोर पड़ गया है। अंतर्राष्ट्रीय बाजार में सोमवार को सोने के भाव में एक फीसदी से ज्यादा की कमजोरी आई। कमजोर वैश्विक संकेतों से घरेलू वायदा बाजार में भी सोने का भाव (Gold Prices) 350 रुपये प्रति 10 ग्राम से ज्यादा टूटा और चांदी (Silver Price) भी एक फीसदी से ज्यादा फिसली। देश का सर्राफा बाजार सोमवार को होली के त्योहार के अवसर पर बंद रहा, जबकि घरेलू वायदा बाजार शाम के सत्र में कारोबार के लिए खुला। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज यानी एमसीएक्स पर सोने के जून वायदा अनुबंध में शाम 7.13 बजे पिछले सत्र से 352 रुपये यानी 0.78 फीसदी की कमजोरी के साथ 44,759 रुपये प्रति 10 ग्राम पर कारोबार चल रहा था। वहीं, चांदी के मई अनुबंध में बीते सत्र से 752 रुपये यानी 1.16 फीसदी की गिरावट के साथ 64,053 रुपये प्रति किलो पर बना हुआ था।

gold

कमोडिटी बाजार के जानकार केडिया एडवायजरी के डायरेक्टर अजय केडिया ने कहा कि डॉलर में आई मजबूती से वैश्विक बाजार में सोने और चांदी में आई कमजोरी के कारण देश के वायदा बाजार में बुलियन में नरमी का रुख बना हुआ है।

वैश्विक बाजार कॉमेक्स पर सोने के जून अनुबंध में बीते सत्र से 21.85 डॉलर यानी 1.26 फीसदी की गिरावट के साथ 1,710.45 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था। वहीं, चांदी के मई अनुबंध में बीते सत्र से 1.84 फीसदी की गिरावट के साथ 24.65 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार चल रहा था।

जानकार बताते हैं कि आर्थिक आंकड़ों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था में मजबूती के संकेत मिलने और कोरोना वैक्सीनेशन कार्यक्रम में प्रगति से डॉलर में मजबूती देखी जा रही है। डॉलर जब मजबूत होता है तो उसमें निवेश मांग बढ़ने से बुलियन की चाल मंद पड़ जाती है।

Gold & Silver

दुनिया की छह प्रमुख मुद्राओं के मुकाबले डॉलर की ताकत का सूचक डॉलर इंडेक्स सोमवार को फिर मजबूती के साथ कारोबार कर रहा था। डॉलर इंडेक्स बीते सत्र से 0.09 फीसदी की बढ़त के साथ 92.85 पर बना हुआ था। केडिया ने कहा कि वैक्सीनेशन कार्यक्रम की प्रगति और अर्थव्यवस्थाओं में रिकवरी के संकेत मिलने से बुलियन में निवेश मांग सुस्त पड़ गई है जिसके चलते सोने और चांदी दोनों में गिरावट आई है।

Support Newsroompost
Support Newsroompost