मुकेश अंबानी की कंपनी ने ऑनलाइन दवा बेचने वाली कंपनी नेटमेड्स को खरीदा, 620 करोड़ रुपए में हुई डील

मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने एक बड़ी डील की जानकारी दी है। जिसके मुताबिक मुकेश अंबानी ने अपने रिटेल कारोबार (Retail business) के लिए एक बड़ा सौदा किया है।

Avatar Written by: August 19, 2020 2:29 pm

नई दिल्ली। मुकेश अंबानी (Mukesh Ambani) की रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (RIL) ने एक बड़ी डील की जानकारी दी है। जिसके मुताबिक मुकेश अंबानी ने अपने रिटेल कारोबार (Retail business) के लिए एक बड़ा सौदा किया है। RIL के मुताबिक उसकी सहायक रिलायंस रिटेल वेंचर्स लिमिटेड (RRVL) ने डिजिटल फार्मा मार्केट प्लेस नेटमेड्स (Netmeds) के मेजॉरिटी शेयर का अधिग्रहण कर लिया है।

Reliance Industries Chairman Mukesh Ambani

नेटमेड्स में 620 करोड़ रुपए का निवेश

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने ऑनलाइन फार्मेसी कंपनी नेटमेड्स में 620 करोड़ रुपए का निवेश किया है। रिलायंस ने विटालिक हेल्थ और उसकी सब्सिडियरी कंपनियों में करीब 60 फीसदी हिस्सेदारी ली है जिन्हें सामूहिक रूप से नेटमेड्स के रूप में जाना जाता है। रिलायंस ने सहायक कंपनियों त्रिसारा हेल्थ प्राइवेट लिमिटेड, नेटमेड्स मार्केट प्लेस लिमिटेड और दाधा फार्मा डिस्ट्रिब्यूशन प्राइवेट लिमिटेड में 100 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है।

reliance netmeds

रिलायंस की रिटेल डायरेक्टर ईशा अंबानी ने एक बयान में कहा कि यह निवेश हमारी उस प्रतिबद्धता के अनुरूप ही है जिसमें हमने भारत में हर व्यक्ति तक डिजिटल पहुंच की बात की है। नेटमेड्स के अधिग्रहण से अब रिलायंस रिटेल लोगों को अच्छी क्वालिटी और किफायती हेल्थ केयर प्रोडक्ट और सेवाएं मुहैया करा सकेगा। नेटमेड्स ने जिस तरह से बहुत कम समय में देशव्यापी डिजिटल फ्रेंचाइजी विकसित की है उससे हम प्रभावित हुए हैं।

इसके अलावा चर्चा है कि रिलायंस दूध डिलीवरी कंपनी मिल्कबॉस्केट को भी खरीद सकती है। अंबानी ने जियो प्लेटफॉर्म में हिस्सेदारी बेचकर 20 अरब डॉलर से अधिक जुटाए हैं। बताया जा रहा है कि आरआईएल किशोर बियानी के फ्यूचर ग्रुप की रिटेल संपत्तियों के पूर्ण या कुछ हिस्सों का अधिग्रहण करने की भी तैयारी में है। आरआईएल ने पहले स्पष्ट किया था कि वह फ्यूचर ग्रुप के खुदरा व्यवसायों के अधिग्रहण के लिए एक सौदे पर चल रही अटकलों और अफवाहों पर टिप्पणी करने में असमर्थ है।

आरआईएल ने फ्यूचर ग्रुप के साथ संभावित सौदे पर स्टॉक एक्सचेंजों को स्पष्टीकरण में जवाब भी दिया। आरआईएल ने कहा, स्पष्ट करना चाहेंगे कि हम मीडिया अटकलों और अफवाहों पर टिप्पणी करने में असमर्थ हैं और ऐसा करना हमारे लिए अनुचित होगा।