अडानी ग्रुप में 43500 करोड़ निवेश करने वाले 3 विदेशी फंडों के अकाउंट को NSDL ने किया फ्रीज, शेयर में भारी गिरावट

Adani Groups: तीनों फंड का संयुक्त रूप से अडानी एंटरप्राइजेज में 6.82 फीसदी, अडानी ट्रांसमिशन में 8.03 फीसदी, अडानी टोटल गैस में 5.92 फीसदी और अडानी ग्रीन में 3.58 फीसदी का निवेश है।

Avatar Written by: June 14, 2021 10:51 am
Adani

नई दिल्ली। सोमवार को अडानी ग्रुप्स की कंपनियों के शेयर में भारी गिरावट देखने को मिली। दरअसल नेशनल सिक्यूरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) ने 3 विदेशी फंडों के अकाउंट को फ्रीज कर दिया है। मालूम हो कि इन फंडों ने अडानी ग्रुप की कंपनियों में 43 हजार 500 करोड़ रुपये का इनवेस्ट किया है। इसकी वजह से अडानी समूह की कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई है। NSDL ने जिन अकाउंट को फ्रीज किया है, उनमें Albula इनवेस्टमेंट फंड, Cresta फंड और APMS इनवेस्टमेंट फंड के अकाउंट शामिल हैं। डिपॉजिटरी की वेबसाइट के जरिए मिली जानकारी के अनुसार ये सभी अकाउंट 31 मई को या उससे पहले ही फ्रीज किए गए हैं। बता दें कि इस खबर के चलते अडानी ग्रुप के शेयर धड़ाम हो गए, जिससे शेयर बाजार में निराशा देखी गई। हालात ये रही कि अडानी एंटरप्राइजेज के शेयर 15 फीसदी टूटकर 1361.25 रुपये पर पहुंच गया। इसके अलावा अडानी पोर्ट्स ऐंड इकोनॉमिक जोन 14 फीसदी, अडानी ट्रांसमिशन 5 फीसदी, अडानी ग्रीन एनर्जी 5 फीसदी, अडानी पावर 5 फीसदी, अडानी टोटल गैस 5 फीसदी टूट गया।

हालांकि खबर लिखे जाने तक अडानी ग्रुप ने अपनी तरफ से कोई बयान जारी नहीं किया था। दरअसल ये तीनों फंड मॉरीशस के हैं और सेबी में इन्हें विदेशी पोर्टफोलियो निवेशक (FPIs) के रूप में पंजीकृत किया गया है। तीनों फंड का संयुक्त रूप से अडानी एंटरप्राइजेज में 6.82 फीसदी, अडानी ट्रांसमिशन में 8.03 फीसदी, अडानी टोटल गैस में 5.92 फीसदी और अडानी ग्रीन में 3.58 फीसदी का निवेश है।

share market

 

अकाउंट फ्रीज होने से संबंधित जानकारी देते हुए इकोनॉमिक टाइम्स का कहना है कि, मालिकाना हक के बारे में पर्याप्त जानकारी न देने की वजह से इस तरह की कार्रवाई की गई है। अकाउंट फ्रीज होने पर अब ये फंड न तो अपने खाते के शेयर निकाल सकते हैं, और न ही नए शेयर खरीद सकते हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost