Swiggy-Zomato से खाना मंगाना होगा महंगा, GST काउंसिल कमेटी ने की ये सिफारिश

Swiggy-Zomato: जीएसटी काउंसिल कमिटी इसे लेकर विचार विमर्श कर रही है। कमिटी की ओर से फूड डिलिवरी एप्स को कम से कम 5 फीसदी जीसएटी के दायरे में लाने की सिफारिश की गई है। ऐसे में अगर Swiggy, Zomato से खाना मंगाते हैं तो आपको पहले के मुकाबले इसके लिए ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं।

Written by: September 15, 2021 12:34 pm
zomato 2

नई दिल्ली। आज के समय में Swiggy-Zomato जैसे कई ऑनलाइन फूड डिलिवरी कपंनियां चल रही हैं जो आपको कुछ ही समय में मन पसंद खाना आपके पास पहुंचा देती है। इसके लिए आपको कहीं जाने की भी जरूरत नहीं पड़ती। इन कंपनियों के ऐप से आप सस्ते और अच्छे खाने की सुविधा मिल जाती है जो उन लोगों के लिए बेहद मददगार रहती है जो अपने घर से दूर रहते हैं। अगर आप भी इन्हीं लोगों में से हैं तो आपके लिए जरूरी खबर है। दरअसल, जल्द ही ऑनलाइन फूड डिलिवरी (Online Food delivery) महंगी हो सकती है।

zomato

जीएसटी काउंसिल कमिटी इसे लेकर विचार विमर्श कर रही है। कमिटी की ओर से फूड डिलिवरी एप्स को कम से कम 5 फीसदी जीसएटी के दायरे में लाने की सिफारिश की गई है। ऐसे में अगर Swiggy, Zomato से खाना मंगाते हैं तो आपको पहले के मुकाबले इसके लिए ज्यादा पैसे चुकाने पड़ सकते हैं। शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल कमिटी की मीटिंग होनी है जिसमें इसे लेकर बातचीत की जाएगी।

zomato 2

बता दें, लखनऊ में शुक्रवार को जीएसटी काउंसिल की मीटिंग होनी है। फिलहाल जो व्यवस्था है उससे टैक्स में सरकार को 2 हजार करोड़ रुपये का नुकसान दिखाया गया है। जीएसटी काउंसिल के फिटमेंट पैनल ने इसे लेकर सिफारिश की है कि फूड एग्रीगेटर को ई-कॉमर्स ऑपरेटर माना जाए।

आपको बता दें, बीते दिनों ऑनलाइन फूड डिलीवरी कंपनी जोमैटो के सह-संस्थापक गौरव गुप्ता ने छह साल के कार्यकाल के बाद कंपनी से इस्तीफा दे दिया था। कंपनी में सभी को एक ईमेल में उन्होंने कहा, “मैं अपने जीवन में एक नया मोड़ ले रहा हूं और अपने जीवन के जोमैटो में पिछले 6 साल के परिभाषित अध्याय से बहुत कुछ लेते हुए एक नया अध्याय शुरू करूंगा।”

“अब हमारे पास जोमैटो को आगे ले जाने के लिए एक महान टीम है और यह मेरे लिए अपनी यात्रा में एक वैकल्पिक रास्ता अपनाने का समय है। मैं इसे लिखते हुए बहुत भावुक हूं और मुझे नहीं लगता कि कोई भी शब्द न्याय कर सकता है कि मैं अभी कैसा महसूस कर रहा हूं।”

जोमैटो के सीईओ दीपिंदर गोयल ने गुप्ता को धन्यवाद देने के लिए ट्विटर का सहारा लिया और कहा कि कंपनी की यात्रा को आगे बढ़ाने के लिए एक महान टीम और नेतृत्व है। गोयल कहा, “धन्यवाद एट द रेट जी आर वी जी पी टी ए पिछले 6 साल अद्भुत रहे हैं और हम बहुत दूर आ गए हैं। अभी भी हमारी बहुत आगे की यात्रा है, और मैं आभारी हूं कि हमारे पास हमें आगे ले जाने के लिए एक महान टीम और नेतृत्व है।”

Support Newsroompost
Support Newsroompost