Repo Rate: आरबीआई ने रेपो रेट 4 फीसदी पर स्थिर रखा

Repo Rate: आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के नतीजों की घोषणा करते हुए दास ने कहा कि रेपो रेट को चार फीसदी पर और रिवर्स रिपो रेट को 3.35 फीसदी पर स्थिर रखने का फैसला लिया गया है।

आईएएनएस Written by: April 7, 2021 11:18 am
shaktikant

मुंबई। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने मौद्रिक नीति के मामले में समायोजी रुख कायम रखते हुए नीतिगत ब्याज दर यानी रेपो रेट में एक बार फिर कोई बदलाव नहीं किया है। आरबीआई गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) ने बुधवार को रेपो रेट को चार फीसदी पर स्थिर रखने के केंद्रीय बैंक के फैसले की घोषणा की। आरबीआई की मौद्रिक नीति समिति (एमपीसी) की बैठक के नतीजों की घोषणा करते हुए दास ने कहा कि रेपो रेट को चार फीसदी पर और रिवर्स रिपो रेट को 3.35 फीसदी पर स्थिर रखने का फैसला लिया गया है।

rbi

आबीआई गवर्नर ने बताया कि एमपीसी ने मौद्रिक नीति के मसले पर समायोजी रुख बरकरार रखा है और जब तक टिकाऊ विकास दर हासिल नहीं कर लिया जाता है तब तक केंद्रीय बैंक का समायोजी रुख कायम रहेगा। पिछले साल आरबीआई ने रेपो रेट में लगातार पांच बार कटौती की जिससे नीतिगत प्रमुख ब्याज दर में 1.35 फीसदी घट गई।

RBI Governor Shaktikanta Das

शक्तिकांत दास ने कहा कि 2021-22 के लिए वास्तविक जीडीपी वृद्धि का अनुमान 10.5% पर बरकरार है। साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि सभी भारतीय वित्तीय संस्थानों को 50,000 करोड़ रुपये का कर्ज दिया जाएगा।

रेपो रेट वह ब्याज दर है जिस पर केंद्रीय बैंक से वाणिज्यिक बैंकों को लघु अवधि का कर्ज मुहैया मिलता है। इसके विपरीत वाणिज्यिक बैंकों से केंद्रीय बैंक जिस ब्याज दर पर फंड प्राप्त करता है उसे रिवर्स रेपो रेट कहते हैं।

Support Newsroompost
Support Newsroompost