Connect with us

बिजनेस

#Reject_Zomato: ट्विटर पर जोमैटो को लोगों ने जमकर सुनाई खरी-खोटी, जानिए क्या है पूरा मामला

Zomato Controversy: वहीं इस घटना के सामने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। लोगों ने जोमैटो के खिलाफ मुहिम छेड़ दी। वहीं सोशल मीडिया पर #Reject_Zomato तेजी से ट्रेंड कर रहा है।

Published

on

zomato 2

नई दिल्ली। यूं तो हमारे देश में भाषा विभेद को लेकर हमेशा से ही विवाद रहा है और कई बार इस विभेद ने विवाद का रूप धारण सामाजिक समरसता का शत्रू बनकर भी सामने आया है। लिहाजा, हमेशा से यही कोशिश की जाती रही है कि ऐसी किसी भी कोशिश से बचा जाए जिससे भाषा समाज में विभेद का कारण बने और काफी हद तक हम इसमें सफर भी रहे हैं, लेकिन लगता है कि जैमोट को हमारी यह सफलता रास नहीं आ रही है। वैसे फूड डिलिवरी एप जोमैटो का विवादों से पुराना नाता रहा है, लेकिन इस बार उसके विवादों में रहने का कारण कुछ और नहीं, बल्कि भाषा ही है। जी हां.. आइए, आपको आगे बताते हैं कि आखिर इस बार कैसे जैमोट ने भाषा की वजह से एक नया विवाद खड़ा कर दिया है। जिसे लेकर सोशल मीडिया पर लोज जैमेटो की जमकर क्लास लगा रहे हैं। आइए, आपको बताते हैं कि आखिर क्या है पूरा माजरा।

Zomato

दरअसल तमिलनाडु के एक कस्टमर ने ट्विटर पर ट्वीट कर बताया कि उसे उसके ऑर्डर का रिफंड इसलिए नहीं दिया जा रहा है क्योंकि उसे हिंदी भाषा नहीं आती है। इतना ही नहीं जोमैटो कस्टमर केयर ने उसे हिन्दी भाषा सीखने के लिए भी कहा। विकास नाम के एक कस्टमर ने ट्विटर पर बताया कि, जोमैटो से एक ऑर्डर किया था, जिसमें एक आइटम गायब था। उन्होंने बताया कि, शिकायत करने पर कस्टमर केयर ने उनका रिफंड यह कहकर करने से मना कर दिया क्योंकि उन्हें हिन्दी भाषा नहीं आती है।  साथ ही हिन्दी नहीं आने के लिए उन्हें झूठा भी करार दिया गया।

लोगों ने चला दिया जोमैटो के खिलाफ मुहिम

वहीं इस घटना के सामने के बाद सोशल मीडिया पर लोगों का गुस्सा फूट पड़ा। लोगों ने जोमैटो के खिलाफ मुहिम छेड़ दी। वहीं सोशल मीडिया पर #Reject_Zomato तेजी से ट्रेंड कर रहा है।

जोमैटो ने माफी मांगी

हालांकि विवाद जैसे ही सोशल मीडिया पर उछला तो जोमैटो ने खुद ट्वीट कर माफी मांग ली।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement
Advertisement