Connect with us

मनोरंजन

Adipurush: Adipurush के VFX को लेकर हुआ बड़ा खुलासा, मोबाइल में नहीं लेकिन Big Screen 3D में टीज़र फैंटास्टिक है, अब लोग कह रहे हैं कुछ ऐसा

Adipurush: Adipurush के VFX को लेकर हुआ बड़ा खुलासा मोबाइल में नहीं लेकिन Big Screen 3D में टीज़र फैंटास्टिक है, अब लोग कह रहे हैं कुछ ऐसा इस फिल्म के वीएफ़एक्स को लेकर खूब मजाक बनाया जा रहा है लेकिन अब फिल्म के वीएफ़एक्स को लेकर नए खुलासे किए जा रहे हैं। यहां हम इसी खबर के बारे में बात करेंगे।

Published

on

नई दिल्ली। आदिपुरुष (Adipurush) का विरोध जोरों से चल रहा है। फिल्म के बॉयकॉट (#BoycottAdipurush) को लेकर करीब 60 हज़ार के करीब ट्वीट कर दिए गए हैं। हर तरफ से फिल्म को बहिष्कार करने की मांग चल रही है। बताया जा रहा है फिल्म में हिन्दुओं के देवी-देवताओं के साथ साथ रावण को भी मजाकियां अंदाज़ में दिखाने की कोशिश की गई है। कई लोगों का आरोप है कि ये फिल्म जिसे रामायण (Ramayan) से प्रेरित बताया जा रहा है वो रामायण से प्रेरित तो नहीं है लेकिन रामायण का इस्लामीकरण जरूर है। फिल्म के टीज़र (Adipurush Teaser) पर तरह तरह के आरोप लग रहे हैं। जब इस फिल्म को रिलीज़ किया गया था तब सबसे पहले आरोप फिल्म के वीएफ़एक्स (Adipurush VFX) को लेकर लगे थे और लोगों का कहना था कि जो वीएफएक्स (Vfx) हैं वो कार्टून की तरह लगते हैं ऐसा लगता है कि कार्टून स्तर की फिल्म बनाई है। इस फिल्म के वीएफ़एक्स को लेकर खूब मजाक बनाया जा रहा है लेकिन अब फिल्म के वीएफ़एक्स को लेकर नए खुलासे किए जा रहे हैं। यहां हम इसी खबर के बारे में बात करेंगे।


आपको बता दें जब से फिल्म का टीज़र रिलीज़ हुआ है तब से फिल्म के वीएफ़एक्स को लेकर टीज़र की बुराई की जा रही है। वीएफ़एक्स के आधार पर फिल्म को बच्चों की फिल्म बताया जा रहा है। लेकिन अब फिल्म के टीज़र और वीएफ़एक्स पर अलग खुलासा हुआ है। कई जाने माने क्रिटिक ने बताया है कि उन्होंने इस फिल्म के टीज़र को कुछ ही देर पहले 3 डी वर्जन में देखा है जिसमें टीज़र फैंटास्टिक लग रहा है। जाने माने ट्रेड एनालिस्ट (Trade Analyst) और क्रिटिक (Critic) सुमित कड़ेल (Sumit Kadel) ने ट्वीट करके बताया है,“आदिपुरुष के टीज़र को बड़ी स्क्रीन पर 3 डी में देखा है। मोबाइल और बिग स्क्रीन पर 3 डी वर्जन में अनुभव बिलकुल अलग है। 3 डी में लिए गए शॉट बेहतरीन हैं। ग्राफिक (Graphic) भी काफी अच्छे लग रहे हैं और स्क्रीन पर काफी ग्रैंड लग रहे हैं। जय श्री राम का बैकग्राउंड म्यूजिक गर्व महसूस करा रहा है। मोबाइल पर देखने से टीज़र के साथ न्याय नहीं हो रहा है।”


इसके अलावा पिंकविला (Pinkvilla) वेबसाइट के जर्नलिस्ट हिमेश ने भी फिल्म के टीज़र को बड़ी स्क्रीन पर देखा है और टीज़र की तारीफ किया है। उनका मानना है कि आदिपुरुष (Adipurush) को आप बड़ी स्क्रीन पर ही देख सकते हैं और और उसका असल अनुभव कर सकते हैं। इसके अलावा उनका कहना है कि आने वाले सप्ताह में निर्देशक ओम राउत (Om Raut) और निर्माता भूषण कुमार (Bhushan Kumar) शायद पूरे देश में क्रिटिक को इस टीज़र के 3 डी वर्जन को जरूर दिखयेंगे। इसके अलावा कई अन्य क्रिटिक ने भी आदिपुरुष के 3 डी वर्जन की तारीफ की है। अभी तक इस फिल्म के टीज़र का विरोध हो रहा था। जिनमें से एक प्रमुख कारण इसका वीएफ़एक्स भी था।

कुछ लोगों का मानना है कि ये सब झूठे और बिके हुए ट्वीट्स हैं जो अब आदिपुरुष टीम की तरफ से कराए जा रहे हैं। लोगों का कहना है कि ये सब बॉयकॉट से बचने के लिए किया जा रहा है। मेकर्स इस बात से डर गए हैं कि कहीं उनकी फिल्म असफल न हो जाए। इसीलिए ऐसे ट्वीट्स किया जा रहे हैं। लोगों को इन ट्वीट्स पर कोई विश्वाश नहीं हो रहा है और उनका मानना है कि फिर भी वो इस फिल्म का बहिष्कार करेंगे क्योंकि फिल्म में देवीदेवताओं का मजाक उड़ाया गया है। गलत तरीके से रामायण के किरदारों को दिखाया गया है इसलिए इस फिल्म का विरोध जारी रहेगा।

Advertisement
Advertisement
Advertisement