Dharavi Bank OTT: विवेक ओबरॉय ने बताया आजकल स्क्रिप्ट्स में भारतीयता कम, अमेरिका और कोरिया प्रभाव अधिक

Dharavi Bank OTT: धारावी बैंक वेब सीरीज के प्रमोशन के दौरान विवेक ओबरॉय ने भी ऐसा खुलासा किया है जिससे पता चलता है कि क्या कारण है कि बॉलीवुड (Bollywood) में फिल्में तो तमाम बन रही हैं, चल बहुत कम रही हैं। यहां हम इसी बारे में बात करेंगे।

Avatar Written by: November 26, 2022 3:29 pm

नई दिल्ली। विवेक ओबरॉय (Vivek oberoi) इन दिनों, वेब सीरीज धारावी बैंक (Dharavi Bank) के प्रमोशन में व्यस्त हैं। धारावी बैंक में विवेक एक पुलिसवाले का किरदार निभा रहे हैं। विवेक ओबरॉय के साथ सुनील शेट्टी (Suniel Shetty) भी धारावी बैंक में अभिनय कर रहे हैं। एम एक्स प्लेयर (MX Player) पर आप इस सीरीज (Web Series) को देख सकते हैं। बीते दिनों हमने देखा की धारावी बैंक का प्रमोशन सुनील शेट्टी करने में लगे हुए थे और अब विवेक ओबरॉय भी इससे जुड़ गए हैं। काफी वक़्त बाद विवेक और सुनील शेट्टी फिल्म और सीरीज में दिख रहे हैं। सुनील शेट्टी पिछले काफी दिन से खबरों में बने हुए थे जहां फिर हेरा फेरी 3 (Phir Hera Pheri 3 ) को लेकर भी उनसे सवाल किए जा रहे थे, इसके अलावा उनका एक बयान भी खूब खबरों में रहा था जहां उन्होंने कहा कि आजकल जिम में जो ज्यादातर मृत्यु हो रही हैं वो स्टेरॉयड्स के इस्तेमाल के कारण हो रही हैं। अब धारावी बैंक वेब सीरीज के प्रमोशन के दौरान विवेक ओबरॉय ने भी ऐसा खुलासा किया है जिससे पता चलता है कि क्या कारण है कि बॉलीवुड (Bollywood) में फिल्में तो तमाम बन रही हैं, चल बहुत कम रही हैं। यहां हम इसी बारे में बात करेंगे।

बॉलीवुड हंगामा की खबर के मुताबिक़, विवेक ओबरॉय से जब सवाल पूछा गया कि वो फिल्मों को का चुनाव काफी सोच समझकर करते हैं। जिसका जवाब देते हुए विवेक ने कहा, जी हां वो फिल्मों का चुनाव काफी सोचकर करते हैं। उन्होंने बताया कि जब वो स्क्रिप्ट्स में कई परतें, नई और ईमानदारी से लिखी हुई स्क्रिप्ट देखते हैं तभी वो फिल्म या वेब सीरीज में काम करते हैं। विवेक ओबरॉय ने बताया कि मैं आश्चर्यचकित होता हूं जब मैं आजकल की कुछ स्क्रिप्ट्स को पढ़ता हूं। मुझे लगता है मेकर्स से पूछूं, “तुम लोग भारत के ही हो न ?”

बॉलीवुड हंगामा की खबर के मुताबिक़, विवेक ओबरॉय ने बताया कि आजकल की स्क्रिप्ट्स में जो कहानी का संसार वो तो यहीं का होता है लेकिन ऐसा लगता है की कहानी कहीं अमेरिका और कोरिया से प्रभावित है। विवेक ओबरॉय की बात काफी हद तक सही है। आजकल की जो भी फिल्म और वेब सीरीज रिलीज़ होती हैं, उनसे लोगों का जुड़ाव ही नहीं होता है। वो कहानियां भारत के लोगों से जुड़ ही नहीं पाती हैं। भारतीय की भावनाओं से नहीं जुड़ पाती हैं। जिस वजह से वो फिल्म बॉक्स ऑफिस पर व अन्य प्लेटफार्म पर फ्लॉप होती हैं।

इसके अलावा आपको बता दें विवेक ओबरॉय ने भारतीय फिल्म इंडस्ट्री में करीब 20 वर्ष पार कर लिए हैं। जिसके लिए विवेक ने भारतीय दर्शक, मित्र और परिवार को धन्यवाद कहा है। उनका मानना है कि कभी कभी आपके कर्म आपके लिए बेहतर विकल्प तलाशते रहते हैं। उनके साथ लोगों और परिवार का आशीर्वाद और दुआएं हैं जिससे आज वो इस मुकाम तक पहुंच पाए हैं। विवेक ओबरॉय आने वाली फिल्म आने वाली शूटआउट 3 में भी दिख सकते हैं।