Connect with us

मनोरंजन

Anupamaa 13 May 2022: ‘अगर बापूजी को कुछ हुआ तो…’  भड़का वनराज देगा अनुपमा को धमकी, क्या बिना रुकावट हो पाएगी हल्दी!

Anupamaa 13 May 2022: इसके बाद सभी लोग अनुपमा और अनुज की हल्दी की तैयारियों में जुट जाते हैं। सभी लोग रस्म के लिए सुपर एक्साइटेड होते हैं लेकिन बाबूजी की खुशी के लिए अनुपमा मुस्कुराने का फैसला लेती है। तभी डॉली आती है और बा और वनराज के सामने हाथ जोड़कर कहती है कि वो बापूजी की खुशी के लिए ही सही लेकिन अनुपमा की शादी में शामिल हो जाएं।

Published

on

नई दिल्ली। टीआरपी में टॉप पर रहने वाला सीरियल अनुपमा में रोजाना नए-नए तमाशे देखने को मिल रहे हैं। शो में अनुज और अनुपमा की शादी के प्री-वेडिंग फंक्शन का ट्रैक चल रहा था। बीते एपिसोड में आपने देखा कि  शादी की रौनक के बीच अचानक रंग में भंग तब पड़ जाता है जब सीरियल में बापूजी की तबियत अचानक इतनी ख़राब हो जाती है कि वो बेहोश होकर जमीन पर गिर जाते हैं और उनके सीने में दर्द होने लगता है। बापूजी जिद पर अड़े हैं कि पहले शादी बाद में हॉस्पिटल। आज के एपिसोड में आप देखेंगे कि बापू की जिद के आगे किसी की नहीं चलती और मजबूरन अनुपमा को शादी के लिए मानना पड़ता है। इसी के साथ अनुपमा की हल्दी का फंक्शन शुरू होगा।

वनराज देगा अनुपमा को चेतावनी

आज के एपिसोड में आप देखेंगे कि वनराज अनुपमा पर सारा दोष मढ़ने लगता है और कहता है कि शादी और विदाई के बाद घर छोड़कर चली जाए और कभी वापस न आए। बा भी अनुपमा को ही दोष देती है लेकिन अनु कहती है कि वो जब चाहे घर आएगी और जाएगी क्योंकि बापूजी और बच्चों से उसका अटूट बंधन है। वनराज अनु को धमकी देता है कि अगर बापूजी को कुछ हुआ तो वो उसे नहीं छोड़ेगा। इसके बाद डॉक्टर कहते हैं कि बापूजी के पास दो दिन का समय है और ऑपरेशन आराम से कर सकते हैं। डॉक्टर कहता है कि बाबूजी को एक्स्ट्रा केयर की जरूरत है वो बिल्कुल ठीक हो जाएंगे।

 

View this post on Instagram

 

A post shared by Anuj kapadia ❤️ (@anuj_admirer)


बा और वनराज को शादी में शामिल होने के लिए मनाएगा परिवार

इसके बाद सभी लोग अनुपमा और अनुज की हल्दी की तैयारियों में जुट जाते हैं। सभी लोग रस्म के लिए सुपर एक्साइटेड होते हैं लेकिन बाबूजी की खुशी के लिए अनुपमा मुस्कुराने का फैसला लेती है। तभी डॉली आती है और बा और वनराज के सामने हाथ जोड़कर कहती है कि वो बापूजी की खुशी के लिए ही सही लेकिन अनुपमा की शादी में शामिल हो जाएं। इसके बाद  पाखी, समर, तोशु और किंजल सभी लोग मिलकर बा और वनराज को मनाने के लिए आते हैं। हालांकि बाबूजी की खुशी के लिए बा और वनराज दोनों ही हल्दी समारोह में शामिल होने का फैसला लेते हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement