Connect with us

मनोरंजन

Hindutva Trailer: हिंदुत्व जब जागेगा तो उसके सामने तुम्हारे सारे मंसूबों के परखच्चे उड़ जाएंगे कुछ ऐसे बेहतरीन संवादों और दृश्यों से भरी है फ़िल्म Hindutva

Hindutva Trailer: पहली बार में जबरदस्त ट्रेलर है। जिंदाबाद ट्रेलर है।जिस तरह से संगीत की प्रस्तुति है वो काबिले तारीफ है। जिस तरह से संवाद लिखे गए हैं ताली बजाने का दिल करता है। जिस तरह से संवाद के द्वारा प्रश्न पूछे गए हैं वो सच को दर्शाते हैं। फ़िल्म हिंदुत्व को बढ़ावा देती है और हिंदुत्व को खत्म करने वालों के मंसूबो पर पानी फेरती है। ट्रेलर बता रहा है कि ये फ़िल्म जब आएगी तो तहलका मचा सकती है।

Published

on

नई दिल्ली। काफी समय से जिस ट्रेलर का इंतजार था आखिरकार वो ट्रेल आ गया। जी हां मैं बात कर रहा हूं हिंदुत्व की। इसके ट्रेलर को आज रिलीज कर दिया गया है और फ़िल्म को 7 अक्टूबर को रिलीज किया जाएगा। अभी से लोगों ने इस फ़िल्म को देखने का दिल बना लिया है। कम से कम वो लोग तो जरूर देखना चाहते हैं जो हिंदुत्व के प्रति प्रेम और श्रद्धा रखते हैं। काफी सनी बाद एक दौर आया है जब हिंदुत्व से जुड़ी फ़िल्म बन रही हैं। जब हिंदुत्व और आतंकवाद के बीच के फ़र्क़ को फिल्में अपनी कला के माध्यम से कह रही हैं। इस फ़िल्म में भजन सम्राट अनूप जलोटा जी भी दिखने वाले हैं। इसके अलावा यह मराठी सिनेमा की फ़िल्म है जिसे पहली बार हिंदी सहित कई अन्य भाषाओं में रिलीज किया जा रहा है। इस फ़िल्म के डायरेक्टर करण राज़दान हैं। इस फ़िल्म को पार्ट वन बताकर रिलीज किया जा रहा है यानी कि इसके अन्य पार्ट आने की भी पूरी संभावना है।इस फ़िल्म में आपको सोनारिका भदौरिया भी दिखने वाली हैं। यहां हम इसी के ट्रेलर के बारे में बात करेंगे।

ट्रेलर में क्या है

न झुकना है, न डरना है मैं हिन्दू हूं गर्व से कहना है। इस फ़िल्म का मुख्य बिंदु ये है। इस फ़िल्म के ट्रेलर की शुरुआत होती है जहां एक लड़के को एक काम सौंपा जाता है जिसे याद दिलाया  जाता है कि कुछ समय पहले एक विश्विद्यालय में “अफजल हम शर्मिंदा हैं” के नारे लगे थे। शुरुआत में ही एक संवाद है जहां हिंदुत्व में खतरे में होने की बात चल रही है । उसी दौरान एक बड़ा प्रश्न ट्रेलर के माध्यम से दिखाया गया है कि “अगर हम इस देश से निकाले गए तो क्या दूसरा हिन्दू देश है जहां हम जाकर रह सकेंगे।”

इसके बाद ट्रेलर के माध्यम से विश्विद्यालयों में होने वालों छात्र राजनीति को दिखाया गया है और फिर एक बड़ा पशन दर्शको से किया गया है कि “अगर एक मुसलमान फक्र से खुद को मुसलमान कह सकता है फिर जब हिन्दू खुद को गर्व से हिन्दू बोलता है तब ये धर्मनिरपेक्षता कहां चली जाती है।” ट्रेलर में हिंदुत्व की महत्ता को बताया है हिंदुत्व को शानदार जानदार तरीके से दिखाया है। इसके अलावा हिंदुत्व पर संगीत भी दिया है।

ट्रेलर कैसा है

पहली बार में जबरदस्त ट्रेलर है। जिंदाबाद ट्रेलर है।जिस तरह से संगीत की प्रस्तुति है वो काबिले तारीफ है। जिस तरह से संवाद लिखे गए हैं ताली बजाने का दिल करता है। जिस तरह से संवाद के द्वारा प्रश्न पूछे गए हैं वो सच को दर्शाते हैं। फ़िल्म हिंदुत्व को बढ़ावा देती है और हिंदुत्व को खत्म करने वालों के मंसूबो पर पानी फेरती है। ट्रेलर बता रहा है कि ये फ़िल्म जब आएगी तो तहलका मचा सकती है। अगर जागा हुआ हिन्दू एक साथ हो जाए। अगर इस फ़िल्म को भी द कश्मीर फाइल्स की तरह सहयोग मिल जाए। इस तरह की फिल्मों का चलना जरूरी है। जिससे आगे भी ऐसी फिल्में बनती रहें। ट्रेलर देखकर आप खुद फ़िल्म का अंदाज़ा लगा सकते है । मेकर्स की गुजारिश है कि अगर ये ट्रेलर अच्छा है ये फ़िल्म दर्शक देखना चाहते हैं तो इस फ़िल्म के विषय को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचाया जाए। जिससे अधिक अधिक इस फ़िल्म को सपोर्ट मिले।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement