Connect with us

मनोरंजन

Ram Setu Vs Har Har Mahadev: रामसेतु और हर हर महादेव फिल्म में से कौन मारेगी बाजी, दोनों फिल्में हैं इतिहास का अहम हिस्सा

Ram Setu Vs Har Har Mahadev: रामसेतु और हर हर महादेव फिल्म में से कौन मारेगी बाजी, दोनों फिल्में हैं इतिहास का अहम हिस्सा पिछले कई महीनों से हमने देखा है मराठी फिल्मों की मांग बढ़ी है और यही कारण है कि अब एक मराठी फिल्म को पैन इंडिया लेवल पर रिलीज़ किया जा रहा है।

Published

नई दिल्ली। पावनखिंड पर आधारित फिल्म हर हर महादेव (Har Har Mahadev) इस वक़्त चर्चा में है। ये एक मराठी फिल्म है जिसे इस बार पैन इंडिया लेवल पर रिलीज़ किया जा रहा है। मराठी इंडस्ट्री हमेशा से भारतीय इतिहास और हिन्दू शूरवीरों की कहानी कहती रहती है। मराठी इंडस्ट्री हमेशा उन कहानियों को कहने में आगे रहती है जहां हिन्दू शूरवीरों ने बराबर का लोहा मुगलों से लिया है। इसके अलावा मराठी इंडस्ट्री हमेशा उन वीरों के इतिहास को कहती हैं जिन्होंने मुगलों के सामने कभी सिर को नहीं झुकाया बल्कि जिसने भी भारत को नुकसान पहुंचाना चाहा उनका सिर काट दिया है। ऐसे में मराठी फिल्म इंडस्ट्री एक और कहानी लेकर आ रही है जिसका नाम है हर हर महादेव। इस फिल्म को दिवाली के मौके पर रिलीज़ किया जा रहा है जहां इसके सामने थैंक-गॉड (Thank God) और रामसेतु (Ram Setu) जैसी फिल्में टक्कर में हैं। ऐसे में हर हर महादेव फिल्म के सामने एक बड़ी चुनौती है।

हर हर महादेव फिल्म, शिवाजी महाराज और बाजीप्रभु देशपांडे को स्क्रीन पर प्रस्तुत करती है। इससे पहले भी पावनखिंड (Pawankhind) फिल्म बन चुकी है। पावनखिंड फिल्म की कहानी भी, इसी विषय पर आधारित थी लेकिन उस फिल्म को सिर्फ मराठी भाषा में रिलीज़ किया गया था। फिर भी उस फिल्म को चाहने वाले दर्शकों की संख्या ज्यादा थी। दर्शकों की ऐसी मांग के कारण इस बार एक मराठी फिल्म को मराठी भाषा के साथ कई अन्य भाषा में रिलीज़ किया जा रहा है। पिछले कई महीनों से हमने देखा है मराठी फिल्मों की मांग बढ़ी है और यही कारण है कि अब एक मराठी फिल्म को पैन इंडिया लेवल पर रिलीज़ किया जा रहा है।

कहानी का विषय

इस फिल्म में आदिल शाही सेना के द्वारा जो पन्हाला में घेराबंदी की गई थी उसी के युद्ध को दिखाया जाएगा। जब शाईश्ता खां पूरे महाराष्ट्र में लूटमार कर रहा था, लोगों का नरसंघार कर रहा था, मंदिरों को विध्वंश कर रहा था। शाईश्ता खां, चरम पर मराठी लोगों पर जुल्म कर रहा था। ऐसे में शिवाजी पन्हाला के घेरे में थे, उन तक ये बात पहुंच रही थी, ऐसे में जिस प्रकार की घेराबंदी थी, उससे निकल पाना असम्भव था।  शिवाजी महाराज ने बुद्धि कौशल का प्रयोग किया और उस घेराबंदी से निकल आए। ऐसे में बाजीप्रभु देशपांडे ने उस पावनखिंड के दर्रे पर अपनी सेना खड़ी कर दी जिससे शिवाजी महाराज वहां से निकल सकें। इस घेराबंदी में ही बाजी प्रभु देशपांडे को अपनी जान भी गंवानी पड़ी। इसी विषय पर फिल्म की कहानी आधारित है। जो शिवाजी महाराज की वीरता और उनके देश के प्रति प्रेम को दिखाती है। साथ ही साथ बाजी प्रभु देशपांडे की भी वीरता की कहानी कहती है।

ऐसे में इस फिल्म को पैन इंडिया रिलीज़ किया जा रहा है लेकिन प्रश्न ये है कि क्या उतने दर्शक इस फिल्म को मिल पाएंगे क्योंकि दिवाली के मौके पर ही अक्षय कुमार की रामसेतु भी रिलीज़ हो रही है। इसका जवाब है- भले ही Har Har Mahadev फिल्म को उतने दर्शक न मिल सकें लेकिन फिर भी इस फिल्म को देखने वालों की संख्या बढ़ेगी।

थैंक गॉड (Thank God) फिल्म पर पहले ही आरोप लग चुका है कि वो फिल्म हिन्दू देवी देवताओं का अपमान कर रही है। थैंक गॉड, फिल्म इस लाइन में खड़ी नहीं होती है क्योंकि उस फिल्म का बहिष्कार पहले ही किया जा चुका है। इसके अलावा अक्षय कुमार (Akshay Kumar) की रामसेतु (RamSetu) के ट्रेलर को देखने के बाद कुछ लोगों ने उसे अच्छा और कुछ ने खराब बताया है। ऐसे में हर हर हर महादेव फिल्म, अक्षय कुमार की रामसेतु को टक्कर तो दे सकती है। हालांकि जिस हिसाब से अक्षय कुमार की फिल्म को प्रमोट किया जा रहा है और जैसा नाम उनकी फिल्म का है वैसा हर हर महादेव को मिलने वाला नहीं है। लेकिन फिर भी हर हर महादेव फिल्म टक्कर देती दिखाई देगी। ऐसे में देखना होगा कि रामसेतु और हर हर महादेव फिल्म में से कौन सी फिल्म बाजी मारती है।

Advertisement
Advertisement
Advertisement