UP पुलिस के खौफ से अपराधियों की हालत खराब, खुद ही हाथ उठाकर थाने पहुंचे 3 गैंगेस्टर, किया आत्मसमर्पण

UP Police: दरअसल सूबे की सत्त संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने अपराध की दुनिया में शामिल लोगों के लिए साफ और सख्त संदेश दे दिया था कि, अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

Written by: July 24, 2021 4:38 pm

नोएडा। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद से अपराधियों में इस कदर खौफ बरकरार है कि पूछिए मत। पुलिस एनकाउंटर के डर से अपराधी इस कदर खौफज़दा हैं कि वो खुद ही पुलिस के पास जाकर खुद को गिरफ्तार करने की दुहाई दे रहे हैं। बता दें कि ताजा मामला यूपी के शामली से सामने आया है। गौरतलब है कि शनिवार को शामली में तीन खूंखार गैंगेस्टर ने अपने ऊपर पुलिसिया कार्रवाई और एनकाउंटर के खौफ से कोतवाली पहुंचकर आत्मसमर्पण कर दिया। बता दें कि इन तीनों को पुलिस ने गिरफ्तार कर चालान कर दिया। मालूम हो कि इन तीनों की पुलिस कई दिनों से तलाश भी कर रही थी। यह मामला कैराना कोतवाली से जुड़ा हुआ है। जिसमें गैंगस्टर एक्ट में वांछित चल रहें तीन गैंगस्टर मोमीन, इन्तजार, और मंगता निवासी ग्राम रामडा खुद को गिरफ्तार करवाने के लिए कोतवाली पहुंचे।

CM Yogi Angry

इन गैंगस्टर ने पुलिस के सामने अपने हाथ उठाकर आत्मसमर्पण कर दिया। इसके अलावा अपने भविष्य को लेकर इन्होंने ये भी कहा कि, आगे से वह अपराध से तौबा कर भविष्य में अपराध न करने की शपथ लेते हैं। इसके बाद पुलिस ने सभी तीनों गैंगस्टरों को गिरफ्तार कर चालान कर दिया। इस संबंध में पुलिस अधीक्षक शामली सुकीर्ति माधव ने जानकारी दी कि तीनों आरोपियों के खिलाफ थाना कैराना पर बलवा, हत्या का प्रयास आदि को लेकर पहले से ही मामला पंजीकृत है, जिन पर अंकुश लगाने हेतु आरोपियों के विरूद्ध गैंगस्टर की कार्यवाही की गयी।

इन तीनों पर दर्ज मामले

बता दें कि प्रदेश में योगी सरकार के आने के बाद से ही माफियाओं पर लगाम लगनी शुरू हो गई है। दरअसल सूबे की सत्त संभालते ही योगी आदित्यनाथ ने अपराध की दुनिया में शामिल लोगों के लिए साफ और सख्त संदेश दे दिया था कि, अपराधियों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा या तो अपराधी जेल में होंगे या या फिर अपराधी उत्तर प्रदेश से पलायन कर जाएं। इसका असर ये हुआ कि, पुलिस ने लगातार बड़े अपराधियों को पुलिस मुठभेड़ के दौरान मार गिराया तो कुछ अपराधियों को पुलिस मुठभेड़ में लंगड़ा कर सलाखों के पीछे भेज दिया।

Support Newsroompost
Support Newsroompost