झारखंडः देवघर में बड़ा हादसा, सेप्टिक टैंक के अंदर जहरीली गैस के कारण दम घुटने से 6 लोगों की मौत

झारखंड के देवघर जिले में रविवार को सेप्टिक टैंक के अंदर जहरीली गैस के कारण दम घुटने से छह लोगों की मौत हो गई है। पुलिस ने ये जानकारी दी है।

Avatar Written by: August 9, 2020 5:40 pm

नई दिल्ली। झारखंड के देवघर जिले में रविवार को सेप्टिक टैंक के अंदर जहरीली गैस के कारण दम घुटने से छह लोगों की मौत हो गई है। पुलिस ने ये जानकारी दी है। मृतकों की पहचान ब्रजेश चंद्र बर्नवाल (50 साल), मिथिलेश चंद्र बर्नवाल (40 साल), गोविंद मांझी (50 साल), बबलू मांझी (30 साल), लालू मांझी (25 साल) और लीलु मुर्मू (30) के रूप में की गई है। यह हादसा देवीपुर बाजार इलाके में देवीपुर पुलिस थाना क्षेत्र के अंतर्गत हुई है।

Jharkhand Deoghar Incident

पुलिस अधीक्षक पीयूष पांडेय ने बताया कि रविवार सुबह एक व्यक्ति के घर में सेप्टिक टैंक की सफाई के लिए दो मजदूर इसमें उतरे थे। जब वे नहीं लौटे तो घर के मालिक के दो बेटे टैंक में घुसे। पुलिस ने बताया कि उन चारों के नहीं लौटने पर घर के मालिक ने शोर मचाया जिसके बाद दो पड़ोसी टैंक के अंदर गए। पांडेय ने कहा, “सभी छह लोगों की टैंक के अंदर जहरीली गैस के कारण मौत हो गई। स्थानीय ग्रामीणों ने टैंक को खोलकर शवों को बाहर निकाला।”

Jharkhand Deoghar Incident

बताया जा रहा है कि देवीपुर के राजेश वर्णवाल के घर मजदूरों को सेफ्टी टैंक की सफाई के लिए बुलाया गया था। एक-एक कर मजदूर सेफ्टी टैंक में उतरते गए और थोड़ी देर में बेहोश हो गए। अंदर से आवाज न आने पर स्थानीय लोगों की मदद से सभी को बेहोशी की हालत में बाहर निकाला गया। फिर तत्काल स्थानीय लोगों की मदद से सभी 6 मजदूरों को एंबुलेंस से देवघर सदर अस्पताल पहुंचाया गया, जहां डॉक्टरों ने जांच के बाद मृत घोषित कर दिया।

Jharkhand Deoghar Incident

देवघर के डिप्टी कमिश्नर (डीसी) कमलेश्वर प्रसाद सिंह ने घटना को लेकर कहा कि प्रथम दृष्टया ऐसा लगता है कि सेप्टिक टैंक में कार्बन डाइऑक्साइड या मोनोऑक्साइड जैसी घातक गैसों के संभावित संचय के कारण इनकी मौत हुई है। घटना की सूचना परिजन को दे दी गई है। फिलहाल, पुलिस आगे की कार्रवाई कर रही है।