Connect with us

देश

Rahul Resqued: छत्तीसगढ़ में बोरवेल में गिरे राहुल को बचाने में मिली कामयाबी, 104 घंटे चला रेस्क्यू ऑपरेशन

राहुल को उसके गांव से बिलासपुर के अपोलो अस्पताल तक ले जाने के लिए पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर बनाया था। उसे फिलहाल आईसीयू में रखा गया है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। राहुल शुक्रवार शाम को खेलते वक्त गांव में खोदे गए एक बोरवेल में गिर गया था। वो करीब 90 मीटर नीचे फंसा था।

Published

on

borewell child 1

जांजगीर चांपा। छत्तीसगढ़ के जांजगीर चांपा जिले के पिहरीद गांव में बोरवेल में गिरे राहुल साहू नाम के बच्चे को आखिर सकुशल बाहर निकाल लिया गया। राहुल को 104 घंटे तक खोदाई करके निकाला गया। इस ऑपरेशन में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ के जवान लगे हुए थे। राहुल बीते शुक्रवार को बोरवेल में गिर गया था। छत्तीसगढ़ के सीएम भूपेश बघेल अभी दिल्ली में हैं, लेकिन वो लगातार राहुल के रेस्क्यू के काम की जानकारी ले रहे थे। एनडीआरएफ की ओर से बताया गया कि राहुल को बोरवेल से निकालना काफी चुनौती भरा रहा। इसे बड़ी सफलता इसलिए भी माना जा रहा है, क्योंकि खोदाई करते वक्त कई जगह बड़ी चट्टानें मिलीं और उन्हें तोड़ने में मुश्किलों का सामना करना पड़ा।

borewell child 2

राहुल को उसके गांव से बिलासपुर के अपोलो अस्पताल तक ले जाने के लिए पुलिस ने ग्रीन कॉरिडोर बनाया था। उसे फिलहाल आईसीयू में रखा गया है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। राहुल शुक्रवार शाम को खेलते वक्त गांव में खोदे गए एक बोरवेल में गिर गया था। वो करीब 90 मीटर नीचे फंसा था। राहुल के गिरने की खबर मिलते ही सीएम बघेल ने एनडीआरएफ और एसडीआरएफ को मौके पर पहुंचकर रेस्क्यू ऑपरेशन चलाने के लिए कहा था। बोरवेल में कैमरा उतारा गया था। इससे पता चला था कि सोमवार को राहुल काफी सुस्त हो गया था।

वहीं, बोरवेल में पानी का स्तर भी लगातार बढ़ रहा था। ऐसे में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ ने खोदाई का काम और तेज किया। गांव में एक चेकडैम है। उसका गेट भी खोला गया, ताकि राहुल पानी में डूब न जाए। सुरंग बनाकर जब टीम राहुल तक पहुंची, तो वो एक चट्टान पर बैठा मिला।

Advertisement
Advertisement
Advertisement