Connect with us

देश

Gujrat: MP के खरगोन के बाद अब गुजरात के खंभात में चला बुलडोजर, हिंसा के आरोपियों की संपत्ति ढहाई गई

Gujrat: रामनवमी के मौके पर गुजरात के खंभात में शोभायात्रा निकाली जा रही थी। इस जुलूस पर दूसरे पक्ष के लोगों ने अचानक पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद उस क्षेत्र में बवाल मच गया। बवाल के उपद्रवियों ने कुछ गाड़ियों और कुछ दुकानों को आग में आग लगा दी, जिससे हिंसा और भड़क गई।

Published

on

नई दिल्ली। यूपी में बाबा (योगी आदित्यनाथ), मध्य प्रदेश में मामा (शिवराज सिंह चौहान) के बाद अब गुजरात में दादा (भूपेंद्र पटेल) का भी बुलडोजर चला है। गुजरात के खंभात में रामनवमी के जुलूस पर हुए पथराव के बाद फैली हिंसा के आरोपियों की संपत्ति पर बुलडोजर चलाया गया है। प्रशासन ने हिंसा के स्थान पर स्थित दुकानों को बुलडोजर से गिरा दिया है। बता दें, रामनवमी पर गुजरात के खंभात में हुई हिंसा के दौरान एक शख्स की मौत हो गई थी। जिस समय प्रशासन आरोपियों की संपत्तियों पर बुलडोजर चला रहा था, वहां पर बड़ी संख्या में पुलिसबल तैनात की गई थी। इसके अलावा, इस दौरान एसडीएम समेत तमाम बड़े अधिकारी भी मौजूद रहे। अधिकारियों के अनुसार, गिराई गई संपत्तियां अवैध थीं और यहां पर आपराधिक गतिविधियां हो रही थीं। यही कारण है कि इन पर बुलडोजर चलाया गया।

गौरतलब है कि रामनवमी के मौके पर गुजरात के खंभात में शोभायात्रा निकाली जा रही थी। इस जुलूस पर दूसरे पक्ष के लोगों ने अचानक पथराव शुरू कर दिया। इसके बाद उस क्षेत्र में बवाल मच गया। बवाल के उपद्रवियों ने कुछ गाड़ियों और कुछ दुकानों में लगा दी, जिससे हिंसा और भड़क गई। पुलिस के अनुसार, यहां हिंसा की साजिश काफी पहले ही रची जा रही थी। पुलिस ने इस हिंसा की साजिश रचने के आरोप में 11 लोगों को पकड़ा है। मामले की जांच कर रही पुलिस ने बताया था कि खंभात की हिंसा की साजिश में 1 मौलवी और उसके दो सहायक मौलवी भी शामिल हैं। बता दें, इससे पहले रामनवमी के ही दिन एमपी के खरगोन में भी हिंसा भड़की थी। बाद में, यहां भी प्रशासन ने जुलूस पर पथराव करने वाले और हिंसा के आरोपियों की संपत्ति पर बुलडोजर चला दिया था।

Advertisement
Advertisement
Advertisement