Connect with us

देश

अखिलेश ने फिर दिया चाचा को गच्चा, बिफरे शिवपाल बोले…

विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए न्योता न मिलने पर चाचा शिवपाल ने अपने गम बयां करते हुए कहा कि मैं पिछले दो तीन दिनों से विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए बाट जोह रहा था, लेकिन अफसोस में इसकी सूचना तक नहीं दी गई।

Published

on

नई दिल्ली। समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और संयुक्त प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के प्रमुख शिवपाल यादव के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है। हालांकि, दोनों अपने रिश्तों के दुरूस्त होने की बात कहते हुए आए हैं। दोनों का कहना है कि उनके बीच में कोई खटास नहीं है, लेकिन अभी हाल ही में जो कुछ भी सूबे की राजनीति में देखने को मिल रहा है, उसे देखने के बाद तो ऐसा बिल्कुल भी नहीं लग रहा है कि चाचा-भतीजे के बीच सब कुछ ठीक हो। दरअसल, आज यानी की शनिवार को सपा प्रमुख अखिलेश यादव ने पार्टी के सभी निर्वाचित विधायकों की बैठक बुलाई, जिसमें सभी विधायकों ने अपनी मौजूदगी दर्ज कराई है, लेकिन शिवपाल यादव को इस बैठक में बुलाना तक जरूरी नहीं  समझा गया, जिसके बाद से इस बात की चर्चा अपने चरम पर पहुंच चुकी है कि दोनों के बीच कुछ ठीक नहीं चल रहा है। निर्वाचित विधायकों की बैठक में चाचा शिवपाल की गैर-मौजूदगी ने चाचा और भतीजे के बीच रिश्तों में दरार की चर्चा अपने चरम पर पहुंचा दी है।

up election 2022: अखिलेश यादव और शिवपाल सिंह यादव के बीच यूपी विधानसभा चुनाव में सीट बंटवारे को लेकर बैठक: Akhilesh yadav aur Shivpal singh yadav ke beech up vidhan sabha chunav

माना जा रहा है कि दोनों के बीच रिश्तों में खटाज अभी-भी है। वहीं, विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए न्योता न मिलने पर चाचा शिवपाल ने अपने गम बयां करते हुए कहा कि मैं पिछले दो तीन दिनों से विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए बाट जोह रहा था, लेकिन अफसोस में इसकी सूचना तक नहीं दी गई। मैंने विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए अपने प्रस्ताविक कार्यक्रमों को रद्द कर दिया था, लेकिन इसके बावजूद भी नहीं बुलाया गया।

उन्होंने आगे कहा कि विडंबना देखिए मैं समाजवादी पार्टी से विधायक हूं। इसके बावजूद भी नहीं बुलाया गया हूं। बता दें कि अभी लखनऊ स्थित समाजवादी पार्टी कार्यालय में सपा विधायकों की बैठक हो रही है, जिसमें सभी विधायक शामिल हुए हैं और इस बैठक में सभी सियासी मसलों को लेकर चर्चा का सिलसिला जारी है। बता दें कि चुनाव से पूर्व शिवपाल ने अखिलेश से 100 सीटें मांगी थी, लेकिन सपा प्रमुख ने उन्हें महज 1 सीटें देकर ही टिरका दी है। जिसे लेकर शिवपाल का दर्द  भी छलका था और सपा प्रमुख को इसका कितना पहुंचा है। यह भी हम देख ही चुके हैं।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement