कोरोनावायरसः अमरिंदर सिंह बोले बढ़ रहा कम्युनिटी ट्रांसमिशन का मामला, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने नकारा

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में कोरोनावायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है लेकिन सावधान रहने की जरूरत है।

Written by: April 10, 2020 5:53 pm

नई दिल्ली। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि भारत में कोरोनावायरस के कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है लेकिन सावधान रहने की जरूरत है। इससे पहले पंजाब के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने कहा है कि राज्य में 27 कोरोना मरीजों की कोई ट्रैवल हिस्ट्री नहीं है, ऐसे में इनमें से ज्यादातर को कम्युनिटी ट्रांसमिशन कहा जा सकता है। उन्होंने कुछ विशेषज्ञों का हवाला देते हुए कहा कि स्थिति भयावह हो सकती है और इसको लेकर तैयारी करनी होगी। मुख्यमंत्री के मुताबिक, पीजीआई चंडीगढ़ के विशेषज्ञों का अनुमान है कि भारत में सितंबर के मध्य में कोरोना वायरस का कहर अपने चरम पर होगा और देश की 58 फीसदी आबादी इसकी चपेट में होगी।

Ministry of Health Lav Agarwal

 

विदेश मंत्रालय के अधिकारी ने बताया कि भारत को कई देशों से हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्विन के अनुरोध मिले हैं। वहीं केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि भारत में 1 करोड़ हाईड्रॉक्सीक्लोरोक्वीन टैबलेट की जरूरत है जबकि हमारे पास 3.28 करोड़ टैबलेट हैं।

Capitan Amrinder Singh Punjab

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया, कोरोना वायरस के कारण देश में मरने वाले लोगों की संख्या बढ़कर शुक्रवार को 199 हो गई और संक्रमित लोगों की संख्या 6,412 पर पहुंच गई। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताया कि देश में अब भी 5,709 लोग संक्रमित हैं, 503 लोग स्वस्थ हो गए और उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी गई तथा एक व्यक्ति देश छोड़कर चला गया।


आगे कैप्टन अमरिंदर सिंह के दावे का जवाब देते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के संयुक्‍त सचिव लव अग्रवाल ने कहा कि देश में कम्युनिटी ट्रांसमिशन की स्थिति नहीं है लेकिन हमें बेहद सावधान रहने की जरूरत है।


वहीं केंद्रीय गृह मंत्रालय के वरिष्‍ठ अधिकारी डी. रवि ने कहा कि विदेशों से अबतक 20 हजार से ज्‍यादा भारतीय निकाले गए हैं। यह चलने वाली प्रक्रिया है। हम इस काम में उत्कृष्ट सहयोग हासिल कर रहे हैं।

इस मामले पर पीजीआई चंडीगढ़ की तरफ से भी बयान आ गया है

यह स्पष्ट किया जा रहा है कि PGI, चंडीगढ़ को इस बात की जानकारी नहीं है कि डिपार्टमेंट ऑफ कम्युनिटी मेडिसिन और स्कूल ऑफ पब्लिक हेल्थ के किसी भी विशेषज्ञ/संकाय सदस्य ने कोई भी अध्ययन किया है कि #COVID19 सितंबर के मध्य तक चरम पर हो सकता है और देश की 58% आबादी इससे संक्रमित हो सकती है।