Connect with us

देश

देशभर में अग्निपथ स्कीम को लेकर हो रहे विरोध प्रदर्शन के बीच खेल मंत्री अनुराग ठाकुर ने अग्निवीरों को लेकर कर दिया बड़ा ऐलान

दरअसल, अनुराग ठाकुर ने कहा कि,   भारतीय सेना के लिए ‘अग्निपथ’ योजना एक बड़ा कदम है. यह एक बहुत बड़ा अवसर है. हम खेल मंत्रालय की तरफ से ‘अग्निवीरों’ को फिजिकल एजुकेशन में रोज़गार दे सकते हैं। ऐसे में अब उन सभी लोगों कों कतई  घबराने की जरूरत नहीं है, जो बेरोगारी के डर से विरोध प्रदर्शन करने पर आमादा हो रहे हैं।

Published

on

नई दिल्ली।  अग्निपथ योजना को लेकर देशभर में विरोध प्रदर्शन जारी है। युवाओं को  इस बात का डर है कि सेना में चार वर्ष काम करने के उपरांत उन्हें बेरोजगारी के कहर का शिकार होना पड़ सकता है, लेकिन सरकार की तरफ से साफ कहा जा चुका है  कि  ऐसा बिल्कुल भी नहीं  है। सेना में तीन वर्ष काम करने के उपरांत युवाओं के लिए रोजगार के कई दरवाजे खुल चुके होंगे। वे अर्धसैनिक बलों समेत अन्य निजी संस्थानों में नौकरी हेतु आवेदन कर सकते हैं।  लेकिन, इसके बावजूद भी विभिन्न राज्यों में विरोध प्रदर्शन देखने को मिल रहा है। अब ऐसी स्थिति में यह पूरा माजरा क्या रुख अख्तियार करता है। इस पर सभी की निगाहें टिकी  रहेंगी। लेकिन,  अब अग्निपथ को लेकर जारी विरोध प्रदर्शन के बीच केंद्र सरकार में मंत्री अनुराग ठाकुर ने बड़ा ऐलान किया है। आइए, आपको बताते हैं कि आखिर उन्होंने क्या कुछ कहा है।

anurag thakur

दरअसल, अनुराग ठाकुर ने कहा कि,   भारतीय सेना के लिए ‘अग्निपथ’ योजना एक बड़ा कदम है. यह एक बहुत बड़ा अवसर है. हम खेल मंत्रालय की तरफ से ‘अग्निवीरों’ को फिजिकल एजुकेशन में रोज़गार दे सकते हैं। ऐसे में अब उन सभी लोगों कों कतई  घबराने की जरूरत नहीं है, जो बेरोगारी के डर से विरोध प्रदर्शन करने पर आमादा हो रहे हैं।

anurag thakur

ध्यान रहे कि इससे पहले रक्षा मंत्रालय की तरफ से भी विरोध प्रदर्शन कर  रहे युवाओं को रोजगार देने का ऐलान किया जा चुका है, लेकिन इन तमाम आश्वासनों के बावजूद भी विरोध प्रदर्शन थमने का  नाम नहीं ले रहा है। वहीं, विरोधी खेमों की तरफ से इसमें असामाजिक तत्वों के लोगों के शामिल होने की बात कही जा रही है।  फिलहाल हिंसा में संलिप्त दंगाइयों की पहचान कर गिरफ्तारी का सिलसिला शुरू हो चुका है।

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement