विष्णुदत्त विश्नोई सुसाइड केस की जांच करेगी सीबीआई, गहलोत सरकार से मिली इजाजत

राजस्थान के चर्चित राजगढ़ सीआई विष्णुदत्त बिश्नोई आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई करेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मामले की जांच सीबीआई से करवाने पर सहमति दे दी है।

Written by: June 4, 2020 8:15 pm

जयपुर। राजस्थान के चर्चित राजगढ़ सीआई विष्णुदत्त बिश्नोई आत्महत्या मामले की जांच सीबीआई करेगी। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मामले की जांच सीबीआई से करवाने पर सहमति दे दी है। इससे पहले बिश्नोई समाज ने मुख्यमंत्री से मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की थी। अब गृह विभाग से सेंट्रल डीओपीटी को पत्र भेजकर सीबीआई जांच का आग्रह किया जाएगा। सेंट्रल डीओपीटी की मंजूरी मिलने के बाद सीबीआई जांच शुरू होगी। इस सुसाइड केस के बाद प्रदेश की राजनीति गरमायी हुई थी। विपक्ष इस केस को लेकर सरकार पर लगातार हमलावर हो रहा था

गृह विभाग केंद्र सरकार को लिखेगा पत्र

गृह विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव ने बताया कि सीएम ने एसएचओ सुसाइड मामले की जांच सीबीआई से कराने वाली फाइल का अनुमोदन कर दिया है। जांच संबंधी पत्रावली पर निर्णय हो गया है। सीएम के निर्देशों की पालना के तहत गृह विभाग केंद्र सरकार को पत्र लिखेगा। अब यह देखना होगा कि केंद्रीय जांच एजेंसी एसएचओ विष्णु दत्त सुसाइड केस को जांच के लिए उपयुक्त मानती है या नहीं। पूर्व में सीबीआई ने राज्य सरकार द्वारा की गई कई अनुशंसाओं को खारिज कर दिया था।

CBI

नागौर सांसद छेड़े हुए थे अभियान

विश्नोई समाज और सीआई के परिजन मामले की जांच सीबीआई से कराने की लगातार मांग कर रहे थे। राष्ट्रीय लोकतांत्रिक पार्टी के नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल इस मांग को लेकर सोशल मीडिया पर अभियान छेड़े हुए थे। वहीं खुद राज्य सरकार के पर्यटन मंत्री विश्वेन्द्र सिंह भी प्रकरण की जांच सीबीआई से कराने की मांग कर चुके थे। सभी पक्षों को देखने के बाद सीएम अशोक गहलोत ने गुरुवार को इस मांग पर अपनी सहमति दी है।

थानाधिकारी विष्णु दत्त विश्नोई ने गत 23 मई को अपने सरकारी क्वार्टर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी। उनके पास से 2 सुसाइड नोट मिले थे। इनमें एक नोट उन्होंने अपने जिले की एसपी तेजस्विनी गौतम के नाम और दूसरा परिवार के नाम लिखा था। इनमें सीआई विश्नाई ने दबाव में होने की बात कही थी।