Connect with us

देश

Video: शिवसेना के लिए आई बुरी खबर, उद्धव हुए चारों खाने चित्त, शिंदे ने जारी की 42 समर्थित विधायकों की तस्वीर

शिंदे का कहना है कि वे हिंदुत्व की विचारधारा से कोई समझौता नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा संजय राउत ने साफ कर दिया है कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा। सरकार चली जाएगी। विधानसभा भंग हो जाएगी। कोई बात नहीं। सरकार फिर बन जाएगी। उधर, जब उद्धव ने इस्तीफा देने की बात कही तो राउत ने कहा कि वे इस्तीफा नहीं देंगे और न ही उन्हें इस्तीफा देने का कोई सुझाव दिया गया है।

Published

on

नई दिल्ली। महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उथल-पुथल के बीच एकनाथ शिंदे के गुट के बागी विधायक कभी सूरत तो कभी गुवाहाटी में आवाजाही कर प्रदेश की राजनीति का पारा बढ़ा रहे हैं। वहीं, लगातार शिंदे गुट के बागी विधायकों की संख्या में तेजी देखने को मिल रही है, जिससे उद्धव सरकार अब अपनी आखिरी सांसें गिनने में मसरूफ हो चुकी है। शिंदे का दावा है कि उनके साथ 35 से अधिक बागी विधायकों का समर्थन हासिल है। जिसमें से कुछ निर्दलीय विधायक भी शामिल हैं। उधर, कुछ मीडिया रिपोर्ट का दावा है कि शिंदे को 45 से भी अधिक बागी विधायकों का समर्थन प्राप्त है। अब इसी बीच बागी विधायक शिंदे ने अपने गुट में शामिल विधायकों की तस्वीर साझा की है। इस तस्वीर के जरिए उन्होंने शक्ति प्रदर्शन जाहिर करने की कोशिश की है। आइए, हम आपको पहले उनके द्वारा जारी की गई तस्वीर दिखाते हैं और इसके बाद हम आपको इसके विश्लेषणात्मक दृष्टिकोण से भी रूबरू कराएंगे।

आपको बता दें कि शिंदे ने यह तस्वीर जारी की है, जिसमें 45 से अधिक बागी विधायक शामिल हैं। यह सभी विधायक अभी होटल में ठहरे हुए हैं। पिछले तीन दिनों से महाराष्ट्र में सियासी ड्रामा जारी है। अब जिस तरह से शिंदे ने बागी विधायकों की तस्वीर जारी है, उससे साफ जाहिर होता है कि वे उद्धव को मुंहतोड़ जवाब देने के लिए तैयार हो चुके हैं। वहीं, बागी विधायकों ने साफ कर दिया है कि वे शिंदे को समर्थन देने के लिए तैयार हैं। वहीं, लगातार दावा किया जा रहा है कि उनके गुट में बागी विधायकों का समर्थन बढ़ता जा रहा है। अब  ऐसे में महाराष्ट्र की राजनीति क्या कुछ रूख अख्तियार करती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी।ध्यान रहे कि इससे पहले महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक घमासान के बीच सीएम उद्धव ने कल फेसबुक लाइव कर कहा था कि, ‘मुझे मुख्यमंत्री की कुर्सी से कोई मोह नहीं है। उन्होंने शिंदे का नाम लिए बिना कहा कि अगर आपको मेरे मुख्यमंत्री रहने से कोई आपत्ति है, तो मुझे कोई दिक्कत नहीं है। मैं इस्तीफा देने के लिए तैयार हूं’। इतना ही नहीं, उद्धव ने तो यहां तक कहने से भी गुरेज नहीं किया कि, ‘अगर आप चाहते  हैं कि मैं शिवसेना प्रमुख से भी इस्तीफा दे दूं, तो मुझे कोई आपत्ति नहीं है। मैं शिवसेना प्रमुख से भी इस्तीफा दे दूंगा’।

उधर, शिंदे का कहना है कि वे हिंदुत्व की विचारधारा से कोई समझौता नहीं कर सकते हैं। इसके अलावा सजय राउत ने साफ कर दिया है कि ज्यादा से ज्यादा क्या होगा। सरकार चली जाएगी। विधानसभा भंग हो जाएगी। कोई बात नहीं। सरकार फिर बन जाएगी। उधर, जब उद्धव ने इस्तीफा देने की बात कही तो राउत ने कहा कि वे इस्तीफा नहीं देंगे और न ही उन्हें इस्तीफा देने का सुझाव दिया गया है। उधर, उद्धव सीएम आवास  वर्षा छोड़कर मातोश्री जा चुके हैं। जिसे लेकर अभी महाराष्ट्र की राजनीति में उबाल और बढ़ चुका है। अब ऐसे में महाराष्ट्र की राजनीति आगे चलकर क्या कुछ रुख अख्तियार करती है। इस पर सभी की निगाहें टिकी रहेंगी। तब तक के लिए आप देश- दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए आप पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement