Connect with us

देश

Bihar: बीजेपी का नीतीश सरकार पर गंभीर आरोप, 15 अगस्त पर कार्यक्रम न कराने पर कहा…

बहरहाल, मौजूदा सराकर ने जिस तरह से पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा जारी किए गए अधिसूचना को निरस्त करने की काम किया है, उससे यह साफ जाहिर होता है कि आगामी दिनों में यह सरकार विभाजनकारी तत्वों को प्रबलता प्रदान करने हेतु कई कदम उठा सकती है, लिहाजा बिहारवासियों को सतर्क हो जाने की आवश्यकता है। आइए, अब हर घर तिरंगा अभियान पर भी नजर डालते हैं।

Published

on

nitish and tejashwi yadav

नई दिल्ली। बीते दिनों बिहार में आए सियासी तूफान के बाद जहां नीतीश कुमार ने बीजेपी को गच्चा देकर महागठबंधन संग मिलकर सरकार बना ली है, तो वहीं अब बीजेपी विपक्ष की गद्दी पर विराजमान हो गई है। लेकिन, जिस तरह से नीतीश कुमार ने बीजेपी से अलहदा होकर राजद संग सरकार बनाई है, उसे लेकर सियासी गलियारों में उनकी खूब आलोचना की जा रही है। वहीं, बीजेपी का कहना है कि बिहार में अब एक बार फिर से जंगल राज की वापसी हो चुकी है। वो दिन दूर नहीं है, जब बिहार की जनता त्राहि-त्राहि करेगी। हालांकि, नीतीश कुमार से लेकर तेजस्वी यादव तक दावा कर रहे हैं कि वे जनता के हित में अनवरत कार्य करते रहेंगे। डिप्टी सीएम का पदभार ग्रहण करने के बाद तेजस्वी ने तो लाखों युवाओं को रोजगार देने का भी वादा कर दिया है। अब वे इन वादों और दावों पर कितने खरे उतर पाते हैं। यह तो फिलहाल आने वाला वक्त ही बताएगा। लेकिन, बिहार की राजनीति में एक बार फिर से महागठबंधन की एंट्री होने के बाद प्रदेश में विभाजनकारी ताकतें प्रबल होती हुई नजर आ रही हैं, जिसकी हालिया तस्वीर किसी और ने नहीं, बल्कि बीजेपी के आईटी प्रभारी अमित मालवीय ने अपने ट्विटर अकाउंट पर साझा की है।

nitish tejasvi

दरअसल, विगत दिनों जब प्रदेश में बीजेपी का शासन था, तो आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर 15 अगस्त के अवसर पर सभी सरकारी कार्यालयों और जिला कार्यलयों में कार्यक्रम आयोजित कर झंडा फहराने के निर्देश दिए गए थे, लेकिन मौजूदा सरकार की बेमानी देखिए कि पूर्व की एनडीए सरकार द्वारा जारी किए गए उपरोक्त अधिसूचना को निरस्त कर दिया गया, जो इस बात को पुष्टि करने के लिए पर्याप्त है कि वर्तमान सराकर अब तिरंगे का अपमान करने पर आमादा हो चुकी है। उनके लिए राष्ट्रीय अस्मिता महज एक औपचारिकताएं मात्र बनकर रह गई हैं।


बहरहाल, मौजूदा सरकार ने जिस तरह से पूर्ववर्ती सरकार के द्वारा जारी किए गए अधिसूचना को निरस्त करने का काम किया है, उससे यह साफ जाहिर होता है कि आगामी दिनों में यह सरकार विभाजनकारी तत्वों को प्रबलता प्रदान करने हेतु कई कदम उठा सकती है, लिहाजा बिहारवासियों को सतर्क हो जाने की आवश्यकता है। आइए, अब हर घर तिरंगा अभियान पर भी नजर डालते हैं।

दरअसल, आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर केंद्र की मोदी सरकार ने हर घर तिरंग अभियान की शुरुआत की है, जिसमें सभी सरकारी कार्यपालकों समेत आम नगारिकों से अपने घऱों पर झंडा फहराने की अपील की जा रही है और हर्ष की बात यह है कि लोग इसमें बढ़चढ़ कर हिस्सा लेते हुए नजर आ रहे हैं, लेकिन कुछ सियासतदानों की ओछी मानसिकता का अंदाजा आप महज इसी से लगा सकते हैं कि वे इसमें भी राजनीति करने के अवसर तलाश रहे हैं। बहरहाल, बतौर पाठक बिहार सरकार के उपरोक्त रवैये पर आपका क्या कुछ कहना है। कमेंट कर बताना बिल्कुल भी मत भूलिएगा। तब तक के लिए आप देश दुनिया की तमाम बड़ी खबरों से रूबरू होने के लिए आप पढ़ते रहिए। न्यूज रूम पोस्ट.कॉम

Advertisement
Continue Reading
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Advertisement
Advertisement