Bihar Election को लेकर सबसे बड़े सर्वे के आंकड़ें आए सामने, देखिए किसे मिल रही है कितनी सीटें

Lokniti-CSDS Opinion Poll: आपको बता दें कि 10 से 17 अक्टूबर के बीच किए गए लोकनीति-सीएसडीएस(Lokniti-CSDS) के ओपिनियन पोल में 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों को कवर किया गया जिनमें से 3731 लोगों से बात की गई।

Avatar Written by: October 20, 2020 8:59 pm
bihar election

पटना। एक तरफ बिहार में विधानसभा चुनाव को लेकर राजनीतिक दलों की तरफ से पूरी जोर-आजमाइश हो रही है वहीं लोकनीति-सीएसडीएस की तरफ से एक ऐसा सर्वे सामने आया है जो महागठबंधन की नींद उड़ा सकता है। आपको बता दें कि 10 से 17 अक्टूबर के बीच किए गए लोकनीति-सीएसडीएस के ओपिनियन पोल में 37 विधानसभा सीटों के 148 बूथों को कवर किया गया जिनमें से 3731 लोगों से बात की गई। लोगों से राज्य में किसकी सरकार बनेगी, मुख्यमंत्री पद के लिए पहली पसंद जैसे सवाल पूछे गए। इस सर्वे में लोगों से पूछा गया कि क्या आप नीतीश के काम से संतुष्ट हैं? इस सवाल के जवाब में सर्वे में पाया गया कि, 52 % लोग ऐसे हैं जो नीतीश सरकार के काम से संतुष्ट हैं। जबकि 44 फीसदी लोग असंतुष्ट हैं। वहीं, 61 फीसदी लोग मोदी सरकार के कामकाज से खुश दिखे तो वहीं 35 फीसदी लोगों ने नाखुशी जताई है।

nitish kumar

नीतीश कुमार पहली पसंद

सीएम के रूप में मौजूदा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार अभी भी लोगों की पहली पसंद बने हुए हैं। सर्वे के मुताबिक 31 फीसदी लोगों की पसंद के साथ वो पहले नंबर पर हैं तो आरजेडी के नेता तेजस्वी यादव 27 फीसदी लोगों की पसंद के साथ दूसरे, एलजेपी के प्रमुख चिराग पासवान 5 फीसदी के साथ तीसरे और बीजेपी नेता सुशील मोदी 4 फीसदी लोगों की पसंद के साथ चौथे स्थान पर हैं।

Nitish Kumar and JP Nadda

38 फीसदी लोगों का एनडीए पर फिर से भरोसा

सर्वे का अनुमान अगर सटीक रहा तो साफ है कि बिहार में फिर से एनडीए की सरकार बनती दिख रही है। बता दें कि सर्वे में 38 फीसदी लोगों ने एनडीए पर फिर से भरोसा जताया है। तो वहीं 32 फीसदी लोग चाहते हैं कि महागठबंधन की सरकार बने। वहीं 6 फीसदी लोगों का मानना है कि राज्य में एलजेपी की सरकार बननी चाहिए।

PM Narendra Modi with Nitish Kumar

एनडीए को स्पष्ट बहुमत

वहीं नतीजों में मिलने वाली सीटों को लेकर सर्वे में सामने आया है कि नीतीश कुमार के नेतृत्व वाले एनडीए को स्पष्ट बहुमत मिलेगा। सर्वे में एनडीए को 133-143 सीट मिलने का अनुमान है।। वहीं महागठबंधन को 88-98 सीट, एलजेपी को 2-6 सीट और अन्य को 6 से 10 सीटें मिलने का अनुमान है।